जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। संजीवनी नगर गढ़ा मेंचल रहे श्रीमज्जिनेंद्र पंचकल्याणक महोत्सव व विश्वशाांति महायज्ञ के अंतिम दिन भगवान आदिनाथ का मोक्ष हुआ। स्वर्ण, रजत के रथों, 15 बग्घियों, हाथी, घोड़ो, बैंड बाजे के साथ श्रीजी की शोभायात्रा निकाली गई। शोभायात्रा में आचार्य विशुद्ध सागर के सानिध्य में इंद्र-इंद्राणियों सहित बड़ी संख्या में जैन धर्मावलंबी शामिल हुए।

प्रतिमाओंका महामस्तकाभिषेक किया :

जैन समाज के अनिल सागर नेबताया कि सुबह भगवान आदिनाथ को मोक्ष प्राप्त हुआ। मोक्षकल्याणक पूजन, अभिषेक के बाद समापन हवन हुआ। इसके बाद श्रीजी की शोभायात्रा धूमधाम से निकाली गई। आचार्य विशुद्ध सागर के सानिध्य मेंसभी जिनबिंबों (प्रतिमाओं ) को जिनालय ले जाया गया। जहां इन प्रतिमाओं का महामस्तकाभिषेक किया गया। इसी केसाथ महोत्सव का समापन हुआ।

भाव सुधारो और भगवान बनो:

महोत्सव के दौरान धर्मसभा को संबोधित करते हुए आचार्य विशुद्ध सागर ने कहा कि दिन बदलते देर नहीं लगती। सुख-शांति की चाह है तो संतोष धारण करो। उन्होंने कहा कि भाव सुधारो और भगवान बनो।

आचार्य का बिलहरी में प्रवास :

पंचकल्याणक महोत्सव के समापन के बाद आचार्य विशुद्ध सागर ने विहार किया। वेबिलहरी पहुंच गए। शुक्रवार को आचार्य विशुद्ध सागर की आहारचर्या बरेला में होगी।

यह भी पढ़ें ः Weather in Jabalpur : बादलों से घिरा शहर, मौसम बना सुहावना

गेल इंडिया के डायरेक्टर शामिल :

पंचकल्याणक महोत्सव में गेल इंडिया के डायरेक्टर व भाजपा के प्रदेश कोषाध्यक्ष सीए अखिलेश जैन ने शामिल होकर आचार्य विशुद्ध सागर का आशीर्वाद प्राप्त किया।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close