जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। अल्जाइमर्स डे पर समाज को सतर्क करने के लिए सहेली ग्रुप से जागरूक कार्यक्रम का आयोजन किया। इस दौरान उन्होंने बताया कि इस बीमारी में अक्सर पीड़ित सामान रख कर भूलना, सामाजिक कार्यों में मन न लगना, बातचीत करने में रुचि न लेना, बढ़ती उम्र के साथ यह समस्या आने लगती है। अल्जाइमर को याददाश्त की बीमारी भी कहा जाता है। इसका महत्ता बताने सहेली ग्रुप जबलपुर अध्यक्ष डा. कावेरी के नेतृत्व में मस्तिष्क रोग विशेषज्ञ डा. अनुमिति जैन के साथ संगोष्ठी का आयोजन किया।

इस अवसर पर एक्सपर्ट ने बताया कि मरीज वा उनके स्‍वजन द्वारा किस प्रकार से इस बीमारी को समझा जा सकता है। उन्होंने बताया कि मरीज एक बच्चे की तरह होता, जिसे प्यार उत्साह के साथ इलाज दिया जाना अति आवश्यक है। बीमारी के लक्षणों को बताने सहेली ग्रुप द्वारा ब्रोसर भी बांटे गए, ताकि व्यक्ति बीमारी को समझ सके। इस अवसर पर डा. नीना श्रीवास्तव, डा. पंकज असाटी, डा. नीरज जैन, डा. आरती, अनिता पटेल, मीना पटेल, इंदुलता, दीप्ति तिवारी, गोलू शर्मा सदस्य तथा अमित जैन, अतुल अहिरवार, देवेंद्र सेन, मनीष, ज्योति, अंकुश, नैना समेत 30 मरीज और उनके स्‍वजन उपस्थित रहे।

स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव पर हिंदी पखवाड़ा : स्वामी विवेकानंद करियर मार्गदर्शन योजना, उच्च शिक्षा विभाग द्वारा स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव पर हिंदी पखवाड़े के अंतर्गत जिला स्तर निबंध प्रतियोगिता आत्मनिर्भर भारत और हिंदी का आयोजन किया गया था। प्रो. अरुण शुक्ल, संभागीय नोडल अधिकारी, स्वामी विवेकानंद कॅरियर मार्गदर्शन, जबलपुर संभाग ने बताया कि स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव पर हिंदी पखवाड़े के अंतर्गत जिला स्तर निबंध प्रतियोगिता में जबलपुर जिले के शासकीय, अशासकीय महाविद्यालयों के प्रतिभागी ने अपनी संस्था से ही प्रतिभागिता की। जिला स्तर निबंध प्रतियोगिता के परिणाम भी घोषित किए गए, जिसमें प्रथम स्थान शैलेन्द्र सिंह गौतम, शासकीय खमरिया महाविद्यालय, जबलपुर द्वितीय स्थान संस्कृति मिश्रा, शासकीय मानंकुवरबाई महिला महाविद्यालय, जबलपुर एवं तृतीय स्थान निधि नामदेव, शासकीय कन्या महाविद्यालय रांझी, जबलपुर ने हासिल किया।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local