जबलपुर, नईदुनिया रिपोर्टर। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा मंडल (सीबीएसई) द्वारा 2020 से 10वीं बोर्ड में गणित की दो परीक्षाएं लेगा। इसके अंतर्गत एक बेसिक और दूसरा स्टैंडर्ड गणित की परीक्षा होगी। मंडल द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार वैसे छात्र-छात्राएं जो 10वीं बोर्ड में बेसिक गणित का चुनाव करेंगे, वे 11वीं में गणित विषय नहीं पढ़ सकेंगे।

हालांकि इसके विकल्प के तौर पर कहा गया है कि जो छात्र-छात्राएं 10वीं बेसिक गणित में उत्तीर्ण होने के बाद 11वीं में गणित के साथ आगे की पढ़ाई करना चाहते हैं उन्हें 10वीं की पूरक परीक्षा देनी होगी। इसके लिए अगले साल जुलाई में होने वाली 10वीं बोर्ड की पूरक परीक्षा में शामिल होना होगा।

अतिरिक्त विषय के लिए 300 रुपए लगेगा शुल्क

बोर्ड परीक्षाओं के लिए सीबीएसई ने इस बार सितंबर के बजाय अगस्त में ही पंजीयन की प्रक्रिया शुरू कर दी है। नए निर्देशों के अनुसार पंजीयन प्रक्रिया में अतिरिक्त विषय के लिए इस सत्र से अलग से शुल्क भी देने होंगे। इसके अंतर्गत 5 विषयों के लिए 1500 रुपए, जबकि अतिरिक्त विषय के तौर जिस 6वें विषय को विद्यार्थी चयनित करेंगे, उसके लिए अगल से 300 रुपए देने होंगे। 12वीं के प्रैक्टिकल विषय के लिए भी प्रति विषय 150 रुपए फीस देने होंगे। एक से 14 अक्टूबर तक विलंब शुल्क देना होगा। विलंब शुल्क 2000 रुपए हैं।

रुचि हो तभी करें गणित का चयन

सीबीएसई द्वारा 10वीं बोर्ड 2020 के छात्र-छात्राएं के लिए उपयोगी निर्देश जारी करते हुए कहा गया है कि यदि गणित में रुचि हो तभी स्टैंडर्ड गणित पढ़ें। बता दें कि बेसिक और स्टैंडर्ड गणित के पाठ्यक्रम और किताबों में किसी तरह का परिवर्तन नहीं किया गया है, लेकिन दोनों के प्रश्नपत्र अलग होंगे। इसमें बेसिक गणित के प्रश्न आसान और स्टैंडर्ड गणित के प्रश्न कठिन व कांसेप्ट आधारित होंगे।

पंजीयन के लिए संबद्धता नंबर जरूरी

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा मंडल (सीबीएसई) ने 10वीं और 12वीं बोर्ड के लिए पंजीयन की तारीख जारी कर दी है। इसके अनुसार पंजीयन के लिए स्कूल के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन 30 सितंबर तक किए जा सकते हैं। जबकि विलंब शुल्क के साथ एक से 14 अक्टूबर तक आवेदन होंगे। पंजीयन आवेदन क्षेत्रीय कार्यालय भी भेजा जाएगा।

यहां 15 अक्टूबर तक फॉर्म जमा करना है। विलंब शुल्क के साथ 25 अक्टूबर तक फार्म जमा किए जा सकते हैं। पंजीयन के लिए पहले स्कूल को लॉग इन करना होगा, उसके बाद ही छात्र-छात्राओं का लॉग इन होगा। सीबीएसई के नए नियम के अनुसार पंजीयन में स्कूल का संबद्धता नंबर देना भी अनिवार्य कर दिया गया है। इसी कारण जल्दी पंजीयन की प्रक्रिया शुरू की गई है, ताकि परीक्षा की तैयारी करने में सुविधा हो।

भादौ मास की पहली सवारी में पांच रूपों में भक्तों को दर्शन देंगे भगवान महाकाल

उज्‍जैन में बस रैलिंग तोड़ त्रिवेणी पुल पर लटकी, 60 यात्री बाल-बाल बचे