जबलपुर नईदुनिया प्रतिनिधि। पनागर थाना क्षेत्र में रहने वाले युवक ने शराबखोरी से परेशान होकर अपने पिता की हत्या कर दी। वह लाश को बोरे में भरकर ठिकाने लगाने जा रहा था, इसी दौरान संदिग्ध लगने पर रात्रि गश्त कर रही अधारताल पुलिस की टीम ने उसे रोककर पूछताछ की तो उसने बोला कि बोरे में सब्जी भरी हुई है, पुलिस को संदेह हुआ और चेक किया तो बोरे में उसके पिता की लाश मिली, जिसे देखो पुलिसकर्मियों के होश उड़ गए। पुलिस की टीम ने तत्काल ही वरिष्ठ अधिकारियों को सूचित करते हुए आरोपी को दबोच लिया।

अधारताल टीआई शैलेश मिश्रा ने बताया कि अधारताल थाने की टीम रात्रि गश्त कर रही थी|आज सुबह करीब 4:30 बजे महाराजपुर भीकल मोड़ पर एक मोटरसाइकिल में बोरे में कुछ सामान रखकर एक युवक जाते हुए दिखा|पुलिस टीम को उस पर संदेह हुआ और उसे रोककर पूछताछ की गई। युवक ने कहा कि बोरे में सब्जी भरी हुई है, पुलिसकर्मियों ने ऊपर से छू कर देखा तो युवक ने कहा कि लोकी रखी है और घबराने लगा। युवक की घबराहट और संदिग्ध बातें सुनकर पुलिस टीम को उस पर संदेह हो गया और जब पुलिस टीम ने चेक किया तो बोरी में लाश रखी हुई मिली। पुलिस की टीम ने तत्काल ही आरोपी को हिरासत में ले लिया।

फैक्ट्री कर्मचारी था मृतक, आरोपित चलाता है कचरा वाहन-

वारदात की सूचना मिलते ही अधारताल टीआई शैलेश मिश्रा, पनागर टीआई आरके सोनी सहित पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। पुलिस ने आरोपित से पूछताछ की तो उसने अपना नाम पनागर निवासी 25 वर्षीय अमन बंशकार बताया और लाश अपने पिता 50 वर्षीय रामलाल बंशकार की बताई। आरोपित अमन ने बताया कि वह नगर निगम की कचरा गाड़ी चलाता है। उसके पिता रामलाल फैक्ट्री में काम करते थे।

हत्या कर हाथ-पैर बांधकर बोरे में भरी लाश-

आरोपित अमर ने पुलिस को बताया कि उसके पिता रामलाल आए दिन शराब खोरी करके उसके एवं उसकी मां के साथ गाली गलौज कर हंगामा करते थे। सोमवार-मंगलवार की दरमियानी रात में भी उसके पिता रामलाल शराब के नशे में हंगामा कर रहे थे, इसी दौरान रात करीब 3 बजे उसने गला घोट कर अपने पिता रामलाल की हत्या कर दी। इसके बाद रस्सी से हाथ-पैर बांधकर लाश को बोरे में भर लिया और पुलिस से बचने के लिए मोटरसाइकिल पर बोरे में लाश को रखकर अधारताल क्षेत्र में ठिकाने लगाने जा रहा था।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close