जबलपुर, नईदुनिया रिपोर्टर। शादी जीवन का एक अनमोल, यादगार पल। जहां से अपने जीवनसाथी के साथ शुरू होती है जिंदगी की नई शुरूआत। कोविड- 19 के समय में शादियों का यह दूसरा सीजन है। पहले गर्मी का और अब ठंड का। कोविड-19 के प्रारंभिक दौर में तो लोगाें ने डर के कारण शादियों की तारीख आगे बढ़ा दीं। लेकिन अब जब देवउठनी एकादशी हो चुकी है ऐसे में शहर में शादियां एक बार फिर शुरू हो चुकी हैं। तरह-तरह के आधुनिक संसाधनों से शादियों को यादगार बनाए जाने का ट्रेंड पिछले कुछ सालों से बढ़ा है। एक ओर जहां कोविड-19 के नकारात्मक प्रभाव हुए हैं वहीं दूसरी ओर इस बुरे समय को भी दूल्हा-दुल्हन यादगार के रूप स्पेशल फोटो-शूट के जरिए संभाल कर रख रहे हैं। शहर में शुरू हुई शादियों के फंक्शन में कुछ दूल्हा-दुल्हन कुछ स्पेशल फोटो शूट करवा रहे हैं जिससे उन्हें जिंदगी भर याद रहे कि उनकी शादी कोरोना काल में हुई थी।

दूल्हा बने गौरव ने बताया कि उन्होंने बारात के समय भी मास्क लगाए रखा। एक तो भीड़ में खुद की सुरक्षा भी जरूरी थी और दूसरे ये मेरे जीवन का खास दिन था। भविष्य में मैं किसी को बताऊंगा कि मेरी शादी के समय ऐसा माहौल था कि दूल्हा-दुल्हन से लेकर सभी घराती-बराती मास्क लगाए थे। क्योंकि कोरोना था। ठीक इसी तरह दूल्हा-दुल्हन बने कोमल और राहुल ने भी अपनी शादी में मास्क लगाकर सेनिटाइजर हाथ में लेकर फोटो शूट करवाया। यह स्पेशल फोटो उनके एलबम में यादगार तस्वीर के रूप लगेगा। कोमल ने बताया कि इस फोटो से वे सभी को संदेश भी देना चाहती हैं कि शादी है तो क्या हुआ, सुरक्षा का ध्यान रखना भी जरूरी है। इसलिए हम लोगों ने मास्क लगाए।

मास्क को लेकर खासियत यह भी है कि मार्केट में जो दूल्हा-दुल्हन के परिधान मिल रहे हैं उनकी मैचिंग के मास्क भी उपलब्ध हैं। जो दूल्हा-दुल्हन की स्टाइल को कम करने के बजाए बढ़ाएंगे ही। डिजाइनर भी ड्रेस डिजाइन करते समय मास्क का विशेष ध्यान रख रहे हैं।

Posted By: Ravindra Suhane

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस