High Court Jabalpur : जबलपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि) । हाई कोर्ट ने शहर के बहुचर्चित राजू वर्मा आत्महत्या मामले में सुसाइड नोट की जांच रिपोर्ट शीघ्र भेजने के निर्देश दिए हैं। न्यायमूर्ति मनिंदर सिंह भट्टी की एकलपीठ ने भोपाल पुलिस मुख्यालय के क्यूडी विंग के डायरेक्टर को निर्देश दिए हैं कि एक माह के भीतर हैंडराइटिंग एक्सपर्ट की रिपोर्ट भेजें। ऐसा इसलिए ताकि मामले की जांच आगे बढ़ सके।

उल्लेखनीय है कि आत्महत्या के बाद राजू वर्मा का एक सुसाइड नोट मिला था। जिसमें आरोप है कि बलिराम साहा, उसकी पत्नी व वंदना अग्रवाल झूठे मामले में फंसाकर जेल भिजवाना चाहते हैं। राजू वर्मा की इलाज के दौरान 26 अक्टूबर 22 को मृत्यु हो गई थी।

मामले की सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता झूमा वर्मा की ओर से अधिवक्ता पंकज दुबे व कुणाल दुबे ने पक्ष रखा। उन्होंने दलील दी कि राजू की याचिकाकर्ता ने सिविल लाइन पुलिस थाने में आवेदन देकर आरोपितों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है। लेकिन पुलिस यह कहकर अपराध दर्ज नहीं कर रही है कि पुलिस मुख्यालय से हैंडराइटिंग एक्सपर्ट की रिपोर्ट प्राप्त नहीं हुई है। झूमा ने पुलिस मुख्यालय भोपाल, कानून मंत्री व उच्च अधिकारियों को भी अभ्यावेदन प्रस्तुत किया। जब कोई कार्रवाई नहीं हुई तो हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई। दलील दी गई कि मृत्यु के तीन माह बीतने के बावजूद जांच में तेजी नहीं आई है।

Posted By: Jitendra Richhariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close