जबलपुर, नईदुनिया प्रनिनिधि। दो दिन के बिगड़े मौसम ने बिजली कंपनी की तैयारी की पोल खोल दी। जगह-जगह पेड़ की शाखाएं गिरने से लाइन टूटीं और इलाकों में बिजली बंद रही। बीती रात को किसी तरह बिजली बहाल हुई, लेकिन कई इलाके मंगलवार को भी अंधेरे में रहे। कई घराें में पानी तक की किल्लत हो गई। नगर संभाग दक्षिण में सबसे ज्यादा शिकायत बनी रही। शहर में करीब 700 शिकायत दोपहर तक सुधारना बाकी रही।

गढ़ा पुरवा में सुबह से वोल्टेज बेहतर कमजोर रहा। बल्ब और पंखे तक चलना मुश्किल हुआ।उपभोक्ताओं से बिजली विभाग को ढेरों शिकायत की। इस संबंध में कार्यपालन अभियंता नवनीत राठौर ने बताया कि कमजोर लाइन होने के कारण ऐसा हुआ है। इस क्षेत्र में वोल्टेज की समस्या बेहतर करने के लिए केबिल बदली जा रही है। इसके अलावा चंदन कालोनी, गढ़ा, विजय नगर, रांझी, गोलबाजार, महाराजपुर, करमेता में कई जगह बिजली सप्लाई बाधित हुई। अभी के बिगड़े मौसम से बिजली के ये हालात हैं तो बारिश में क्या होंगे। इसको लेकर सवाल उठ रहे हैं। बिजली कंपनी की तैयारियों पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं। मेंटेनेंस के नाम पर घंटों कटौती और उसके बाद भी इस तरह के हालात बनने पर कंपनी की लचर कार्यप्रणाली को बता रही है। दूसरी तरफ बिजली कंपनी का दावा होता है कि उसने अपनी सारी व्यवस्थाएं दुरुस्त कर रखी हैं। उपभोक्ताओं को हो रही असुविधा के लिए भी वह स्टाफ की कमी का रोना रो रहा है।

लाइन स्टाफ नहीं-

बिजली कंपनी के पास पर्याप्त संख्या में लाइन स्टाफ नहीं है इस वजह से सुधार कार्य में समय लग रहा है। बताया जाता है कि पर्याप्त संख्या में लाइन स्टाफ नहीं है। इस वजह से आउटसोर्स कर्मचारियों के सहारे काम करवाया जा रहा है। इसके अलावा पिछले दिनों विभागों में फेर बदल की वजह से कई कनिष्ठ अभियंता और लाइन मेन बदल गए, जिसके कारण इलाकों की पहचान करने में परेशानी आ रही है।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close