जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। जबलपुर थोक वस्त्र विक्रेता संघ के तत्वावधान में कलेक्टर को कपड़े पर 12% जीएसटी दर लगाने के निर्णय के विरोध में ज्ञापन सौंपा गया।

उन्हें बताया गया कि केंद्र की सरकार जो कि 1 जनवरी 2022 से कपड़े के ऊपर 5 % की जगह 12 %जीएसटी करने जा रही है, जो कि गलत है। जबलपुर थोक वस्त्र विक्रेता संघ के अध्यक्ष नवनीत जैन ने बताया हमारा यह प्रतीकात्मक विरोध ज्ञापन है । हमारे केंद्रीय नेतृत्व, जो कपड़ा उद्योग से संबंधित ट्रेड के लोग हैं उनकी केंद्र सरकार से वार्तालाप जारी है । यदि उसका कुछ सकारात्मक परिणाम दो-चार दिन के अंदर में नहीं आता है तो संपूर्ण भारत का कपड़ा व्यापार उसमें रेडीमेड, मैन्युफैक्चर, ट्रेडर्स, सारे लोग मिलकर केंद्र सरकार का बहिष्कार करेंगे और धरना, प्रदर्शन, रैली, बाजार बंद कर अपना विरोध प्रदर्शन करेंगे।

उन्होंने बताया कि आजादी से लेकर आज तक कभी कपड़ा किसी टैक्स के अंतर्गत नहीं आया, यह पहली बार है जब कपड़े पर 5% टैक्स लगाया गया था उसको भी व्यापारी अब सहजता से लेने लगा था लेकिन यदि 12% होता है तो इसका बहुत बड़ा भार उपभोक्ता के ऊपर आने वाला है और अभी जो महंगाई है। वह बढ़ती जानी इसलिए हम सब व्यापारी मिलकर इसका विरोध करते हैं। प्रदर्शन में जबलपुर थोक वस्त्र विक्रेता के अध्यक्ष नवनीत जैन, सचिव सुनील फव्यानी, पूर्व अध्यक्ष अनुराग जैन गढ़ावाल, पूर्व अध्यक्ष संतोष अग्रवाल , प्रमोद जैन, राकेश चौधरी, प्रसन्न जैन, राकेश जैन जबलपुर साड़ी, रितेश जैन आर वी टेक्स, नीतेश जैन नीटू नवनीत चौधरी सुधीर जैन, नितिन जैन संदीप चौधरी अखिलेश जैन 'कालू' वीरेंद्र वीरा, सुधीर जैन बबलू आदि उपस्थित थे।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local