जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। आरटीओ विभाग में महिलाओं को ड्रायविंग सिखाने के लिए के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम गुरुवार से शुरू किया जा रहा है। इसके लिए ट्रेनर नियुक्त कर दिए गए है। वहीं शहर से लगभग 74 महिलाओं ने इसके लिए आवेदन किए थे, जिसमें से 50 को सिलेक्ट किया गया है।

आरटीओ संतोष पॉल ने बताया कि गुरुवार को शासन की योजना के मुताबिक ऐसी महिलाएं जो कार ड्रायविंग सिखना चाहती है उनको प्रशिक्षित करने के लिए कैंप लगाया जा रहा है। यह कैंप आइटीआइ में शुरू किया जा रहा है। जिसमें थयोरी और प्रेक्टिकल के माध्यम से उन्हें कार ड्रायविंग की ट्रेनिंग दी जाएगी।

एक माह की दी जाएगी ट्रेनिंग: एक माह के लिए यह ट्रेनिंग कैंप लगाया जा रहा है। जिसमें लगभग सुबह 11 बजे से शाम 5 बजे तक महिलाओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके अलावा इसमें यह भी देखा जाएगा कि कितनी ऐसी महिलाएं है, जो बेहतर ढ़ग से पूरे नियमों का पालन करते हुए ड्रायविंग सिख गई है। हालांकि विभाग का उद्देश्य यह है कि सभी महिलाओं को ड्रायविंग सिखाई जानी है। उन सभी को ट्रेनिंग पूरी करने के लिए नि:शुल्क लायसेंस भी दिया जाएगा। ताकि वह ट्रेनिंग लेकर रोजगार भी प्राप्त कर सके।

सुबह 11 से 2 बजे तक थयोरी और फिर प्रेक्टिकल: आरटीओ संतोष पॉल ने बताया कि गुरुवार सुबह 11 बजे से इस ट्रेनिंग कार्यक्रम का शुभारंभ किया जा रहा है, जिसमें पहले 11 बजे से 2 बजे तक महिलाओं को आइटीआइ में ट्रेनिंग दी जाएगी। इसके बाद 3 बजे से 5 बजे तक आरटीओ कार्यालय में प्रेक्टिकल प्रशिक्षण देकर कार चलाना सिखाया जाएगा। थयोरी में यातायात नियमों के बारे में भी जानकारी दी जाएगी।

कार शोरूम कंपनी में मिल सकता है रोजगार: बताया जा रहा है कि कार शोरूम कंपनी में ऐसी कई महिलाएं आती है, जिन्हें ड्रायविंग नहीं आती और वह कार खरीदकर ड्रायविंग सिखना चाहती है। लेकिन युवकों से ड्रायविंग सिखने में उन्हें परेशानी होती है, जिसे देखते हुए कार शोरूम कंपनियों में ट्रेनिंग ली हुई महिलाओं को रोजगार भी दिया जाएगा, ताकि वह ऐसी महिलाएं जो ड्रायविंग सिखने की इच्छुक हो उनको वह यातायात नियमों के मुताबिक ड्रायविंग करना सिखा सके।

50 के बाद अन्य महिलाओं के लिए भी लिए जाएंगे आवेदन: आरटीओ संतोष पॉल ने बताया कि पहली बार में 50 महिलाओं को ड्रायविंग का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इन महिलाओं के ट्रेनिंग लेने के बाद अन्य महिलाओं को भी ट्रेनिंग देने की योजना बनाई जा रही है। इसमें पहले ट्रेनिंग ली हुई महिलाओं को भी रखा जाएगा, जो उन महिलाओ को ट्रेनिंग देंगी। ताकि ज्यादा से ज्यादा महिलाएं ड्रायविंग सिख सके और इससे अपना रोजगार बना सके।

.......

गुरुवार को ड्रायविंग कैंप शुरू किया जा रहा है। इसमें 50 महिलाओं को शामिल किया गया हे। एक माह की ट्रेनिंग के बाद उन्हें लायसेंस भी दिया जाएगा।

संतोष पॉल, आरटीओ

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local