जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल भेड़ाघाट के पंचवटी में डेरा डाल चुके मगरमच्छ से दहशत का माहौल अब भी बना हुआ है। 10 दिनों से वन विभाग की टीम मगरमच्छ को पकड़ने की कवायद में जुटी है, लेकिन सफलता नहीं मिली है। वहीं पर्यटन स्थल पंचवटी में मगरमच्छ की मौजूदगी से नाविक और ग्रामीण दहशत में हैं। पर्यटन भी प्रभावित हो रहा है। गुरुवार को भी वन विभाग की टीम मगरमच्छ को पकड़ने के लिए भूल भुलैया कुंड के पास चारा डाल कर जाल और दो पिंजरा डालकर बैठी रहीं, लेकिन मगरमच्छ पकड़ में नहीं आ सका।

मगरमच्छ ने बदला ठिकाना : मगरमच्छ के कारण ग्रामीण व नाविक भी खतरे में पड़ गए हैं, क्योंकि कहा जा रहा है कि पहले मगरमच्छ बंदरकूदनी के पास देखा गया था। अनुमान लगाया जा रहा था कि मगरमच्छ धुआंधार की तरफ स्वर्गद्वारी तरफ बढ़ गया है, लेकिन अब उसकी मौजूदगी भूल भुलैया कुंड के पास देखी जा रही है जहां नाविक पर्यटकों को नाव में बैठाकर सैर कराते हैं। लिहाजा नाविक और ग्रामीणों में दहशत बढ़ गई है। ग्रामीणों ने कुंड के पास मगरमच्छ दिखने का दावा किया है।

वन विभाग के रेसक्यू से नाराज है ग्रामीण : वन विभाग की रेसक्यू टीम बीते 10 दिनों से मगरमच्छ को पकड़ रही है, लेकिन सफलता नहीं मिली है। वहीं विभाग द्वारा किए जा रहे रेसक्यू से ग्रामीण नाराज हैं। उनका कहना है कि टीम जाल डालकर चली जाती है। यदि ढंग से अनुभवियों की मदद से रेसक्यू किया जाए तो मगरमच्छ को पकड़ा जा सकता है। 10 दिनों से मगरमच्छ की दहशत से पर्यटन बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है।

दो मगरमच्छ होने का दावा : पंचवटी में 10 दिन पहले मगरमच्छ का बच्चा देखा गया था। इसके बाद वयस्क मगरमच्छ देखा गया। ग्रामीण पंचवटी और बंदरकूदनी में दो मगरमच्छ होने का दावा कर रहे हैं।

------

मगरमच्छ का रेस्क्यू जारी है। संभावित स्‍थानों पर चारा डालकर जाल व पिंजरे लगाए गए हैं। जो दल रेस्क्यू कर रहा है वो पहले भी मगरमच्छों को पकड़ चुका है।

-अंजना सुचिता तिर्की, डीएफओ

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local