जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। वेटरनरी कॉलेज कैंपस से तेंदुआ को पकड़ने लगाए गए ट्रैप कैमरों में कुत्तों की तस्वीरें कैद हुईं हैं। वहीं वन विभाग का पिंजरा भी खाली रहा। इसके बाद भी वन्य अधिकारियों ने कहा है कि वेटरनरी कॉलेज और आसपास के क्षेत्र में अभी चालाक व फुर्तीले वन्यप्राणी की तलाश जारी रहेगी। वन परिक्षेत्र अधिकारी पीएल बरकड़े ने बताया कि रविवार-सोमवार की रात को वेटरनरी कॉलेज कैंपस की स्माल एनिमल रिसर्च लैब में लगे सीसीटीवी कैमरे में तेंदुआ की तस्वीरें आईं हैं।

इस आधार पर वेटरनरी कॉलेज प्रबंधन ने वन विभाग को सूचना दी। वन विभाग अब कॉलेज कैंपस के तेंदुआ को पकड़ने के प्रयास कर रहा है। कॉलेज कैंपस में ट्रैप कैमरे लगाने के साथ ही एक पिंजरा भी रखा गया है। मंगलवार-बुधवार की रात ट्रैप कैमरों में तेंदुआ की आवाजाही होती दर्ज नहीं हुई, लेकिन कुछ कुत्तों की तस्वीरें जरूर आईं हैं।

आवाजाही से पड़ा खलल: कान्हा पार्क के वन्यजीव विशेषज्ञ डॉ. संदीप अग्रवाल ने बताया कि वेटरनरी कॉलेज कैंपस में तेंदुआ आने की खबर पाकर अब यहां लोगों की आवाजाही होने लगी है। इससे वन विभाग को पिंजरा लगाकर बेहद चालाक व फुर्तीले वन्यप्राणी को पकड़ने में खलल पड़ रहा है। उम्मीद है कि एक-दो दिनों में कॉलेज कैंपस से तेंदुआ जरूर पकड़ लेंगे।

पीडब्ल्यूडी कार्यालय में पहरा: वेटरनरी कॉलेज कैंपस का तेंदुआ आस-पास के क्षेत्र में आवाजाही भी करता है। पीडब्ल्यूडी कार्यालय में वरिष्ठ अधिकारियों ने सभी चौकीदारों का पहरा लगा दिया है। साथ ही कार्यालय परिसर में लगे छोटे-बड़े पेड़ों की कटाई-छटाई भी कराई जा रही है।

Posted By: Ravindra Suhane

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस