जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। मानसून के पहले ही हल्की हवा ने शहर के बिजली व्यवस्था को बाधित कर दिया। हवा से कई पेड़ जमींदोज हो गए। इसकी चपेट में बिजली की लाइन आने से टूट गई। ग्वारीघाट रोड़ पर हवा के झोंके से 40 फीट लंबा ग्रीन नेट उड़कर 132 केवी की टावर लाइन से चिपक गया। इस दौरान 33 केवी की सप्लाई भी इलाके की बंद करनी पड़ी। नगर संभाग दक्षिण में सबसे ज्यादा बिजली का व्यवधान हुआ। देर रात तक एक हजार से ज्यादा बिजली की शिकायत दर्ज हो चुकी थी। शहर में करीब पांच घंटे तक बिजली बंद रही।

नगर संभाग दक्षिण के कार्यपालन अभियंता नवनीत राठौर ने बताया कि हवा के कारण ग्वारीघाट रोड़ में कई पेड़ की डाल गिरी। कुछ जगह पूरा पेड़ ही गिर गया। नयागांव क्षेत्र में पेड़ गिरने से लाइन टूट गई। भीमनगर वैशाली परिसर में के सामने 132 केवी की टावर लाइन निकली है, उसके करीब ही 32 केवी लाइन है। यहां करीब निर्माणाधीन इमारत में ग्रीन नेट लगा हुआ था, जो हवा में उड़कर लाइन से चिपक गया। इस वजह से बिजली की सप्लाई बंद करनी पड़ी। बताया जाता है कि टावर लाइन पर काम करने के लिए ट्रांसमिशन कंपनी के कर्मचारियों को बुलाया गया, जिस वजह से समय अधिक लगा। इस बीच भीमनगर, रामपुर समेत कई इलाकों में बिजली की सप्लाई बंद रखनी पड़ी। तिलेहरी, रांझी, अधारताल में भी बिजली बंद होने की शिकायत बनी हुई है। गढ़ा, गौतम की मढि़या और सिविल लाइन में घंटों बिजली लाइन बंद रही।

केशवकुटी के करीब घंटों उपभोक्ता परेशान-

बीती रात केशवकुटी राइट टाउन इलाके में कुछ उपभोक्ताओं को छह घंटे से ज्यादा बिना बिजली के काटने पड़े। यहां रहने वाले उपभोक्त ने बताया कि दोपहर से बिजली कुछ घरों की बंद हुई थी। जिसकी शिकायत भी 1912 में की गई की, लेकिन शिकायत देर रात तक दुरुस्त नहीं हो पाई। अधिकारियों के तबादले होने के कारण नंबर पर भी संपर्क नहीं हो पाया। उपभोक्ता बिजली चालू करवाने के लिए कई दफा मढ़ाताल बिजली दफ्तर में चक्कर लगाते रहे, लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हुई।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close