जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। अनुसूचित जाति जनजाति छात्र संघ जबलपुर के सदस्यों ने भोपाल में पूर्व मुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह से उनके निवास पर मुलाकात की। इस दौरान छात्रों ने अनुसूचित जाति व जनजाति वर्ग के छात्र-छात्राओं की समस्याओं से उन्हें अवगत कराया। साथ ही छात्रावास में रह रहे छात्र-छात्राओं के उन्नयन की दिशा में सहयोग करने का निवेदन किया।

आदिवासी छात्र संगठन से जुड़े छात्रों ने दिग्विजय सिंह से कहा कि उनके द्वारा शासकीय महाविद्यालयीन बालक छात्रावास अधारताल व बालिका छात्रावास राइट टाउन जबलपुर की मरम्मत के लिए आर्थिक सहयोग की घोषण की गई थी। अगर वो राशि जल्द से जल्द उपलब्ध करा देते हैं तो उपरोक्त छात्रावासों का कायाकल्प जल्द हो जाएगा। गौर तलब है कि करीब ढाई महीने पहले पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने इन छात्रावासों के उन्नयन की खातिर आर्थिक मदद का भरोसा दिलाया था। लिहाजा छात्रों के आग्रह पर पूर्व मुख्यमंत्री ने अपने अधीनस्थ स्टाफ को जल्द से जल्द राशि उपलब्ध कराने के लिए निर्देशित किया। इस दौरान आदिवासी छात्रसंघ के अध्यक्ष शुभम चौधरी, उपाध्यक्ष-महेश अहिरवार, शुभम अहिरवार, सत्येंद्र झारिया, नीरज अहिरवार आदि उपस्थित रहे।

नहीं चलेगी बहानेबाजी, चुनाव ड्यूटी तो करना पड़ेगी

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डा. इलैयाराजा टी ने अस्वस्थता का बहाना बनाकर पंचायत निर्वाचन कार्य से छूट पाने की कोशिश करने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों पर 20-50 का फार्मूला लागू कर अनिवार्य सेवानिवृत्ति की कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। ज्ञात हो कि चुनावी कार्य में संलग्न अधिकारी एवं कर्मचारी अपनी अस्वस्थता के कारण निर्वाचन कार्य सम्पादन में असमर्थता प्रकट कर विभिन्‍न कारणों का उल्लेख करते हुए मेडिकल बोर्ड के प्रमाण पत्र सहित आवेदन प्रस्तुत कर रहे हैं। ऐसे अधिकारियों एवं कर्मचारियों को शासन के नियमों के अन्तर्गत 20 वर्ष की सेवा अथवा 50 वर्ष की आयु के तहत अनिवार्य सेवा निवृत्ति की कार्यवाही की जाएगी।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close