जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। आंगनबाड़ी के बच्चों के लिए खिलौना एकत्रित करने में अशासकीय संस्थान ही नहीं बल्कि शहर के प्रबुद्ध वर्ग से लेकर सामाजिक संगठन आगे आया है। शनिवार को कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी की अध्यक्षता में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा खिलौना बैंक का शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर कलेक्टर द्वारा एडॉप्ट और आंगनवाड़ी के संबंध में बताया गया कि आंगनबाड़ी केन्द्रों में जनभागीदारी सुनिश्चित करने के लिए यह कदम उठाया गया है। उन्होंने बताया कि कोई भी व्यक्ति और अशासकीय संस्था छोटी-छोटी आवश्यक वस्तुए जैसे टेबिल, कुर्सी, बर्तन, पंखे एवं अन्य सामग्री जो आंगनबाड़ी केन्द्रों के लिए उपयोगी होती है, वह दे सकता है।

कलेक्टर ने कहा कि आंगनबाड़ी केन्द्रों में आने वाले 6 वर्ष तक के बच्चों के मानसिक, बौद्धिक और शारीरिक विकास के लिए बच्चों को खिलौनों की आवश्यकता होती है। आंगनबाड़ी केन्द्रों के बच्चों के लिए पर्याप्त मात्रा में खिलौनों की उपलब्धता सुनिश्चित करने शहर में 2 खिलौना बैकों की स्थापना की गई है। इनमें से एक खिलौना बैंक कलेक्ट्रेट के कक्ष क्रमांक-15 में स्थापित किया गया है, जबकि दूसरा खिलौना बैंक जेडीए कॉम्पलेक्स सिविक सेंटर में बनाया गया है। कलेक्टर ने सभी मौजूद प्रबुद्धजनों और अशासकीय संस्थाओं के लोगों से आग्रह किया कि वे अपने क्षेत्र के लोगों को इस खिलौना बैंक के बारे में बताकर अधिक से अधिक खिलौनों का एकत्रिकरण करें।

स्वयसेवी संस्थानों ने दिए खिलौना-

महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों को 24 मई तक खिलौना बैंक के लिए खिलौना एकत्रित करने अभियान चलाया जा रहा है। खिलौनों को एकत्रित करके कलेक्ट्रेट के कक्ष क्रमांक-15 में 24 मई तक जमा किया जाएगा। वहीं इस बैठक के दौरान स्वयं सेवी संस्थाओं एवं प्रबुद्ध जनों द्वारा खिलौना बैंक के लिए कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा को विभिन्न प्रकार के खिलौने दिए। इस अवसर पर स्मार्ट सिटी की सीईओ निधि सिंह राजपूत, जिला कार्यक्रम अधिकारी एमएल मेहरा, प्रभारी संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय आशीष दीक्षित, सहायक संचालक महिला बाल विकास मनीष सेठ आदि मौजूद रहे।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close