जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। मानसून के दौर में शहर में शुक्रवार की सुबह सुहावनी रही। बादल से घिरे हुए शहर में मौसम का मिजाज नरम बना हुआ है। हल्की सी ठंडक बनी हुई है। यह अहसास दिला रहा है कि बारिश कभी भी हो सकती है। हालांकि पिछले चार दिनों से बारिश नहीं होने से मौसम में उमस की स्थिति बनी रही और चटख धूप ने लोगों को परेशान किया। पिछले दिनों तापमान में भी तेजी बनी रही। मौसम विभाग की मानें तो अधिकतम तापमान शुक्रवार को भी 35 डिग्री तक पहुंचने आमादा है, वहीं न्यूनतम तापमान भी 26 डिग्री को पार कर गया है। तीन दिन पहले अधिकतम तापमान 32 डिग्री और न्यूनतम 20 डिग्री तक नीचे चला गया था। गर्मी से हलकान लोग इस उम्मीद में है बरखा रानी बरसे तो उमस से कुछ राहत मिले। वहीं मौसम विभाग ने शुक्रवार को जबलपुर सहित संभाग के जिलों में कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ छीेंटे पड़ने की संभावना जताई है। वहीं 30 से 40 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने, कहीं-कहीं बिजली गिरने की चेतावनी भी जारी की है।

चार दिन बाद सक्रिय होगा मानसून-

मौसम विभाग के मुताबिक 26 जून तक मौसम फिलहाल ऐसा ही रहेगा। छिटपुट बूंदाबांदी हो सकती है। पर चार दिन बाद मानसून पूरे प्रदेश में सक्रिय हो जाएगा और 27 जून से जबलपुर सहित मध्यप्रदेश में अच्छी बारिश हो सकती है। इस दौरान आंधी-तूफान भी चल सकता है। बताया जाता है कि अरब सागर और बंगाल की खाड़ी के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बनना बंद हो गया है और इसी वजह से मानसून की बारिश का दौर थम गया है। 26 जून के बाद ओडिशा तट के पास बंगाल की खाड़ी में बना चक्रवाती घेरा सक्रिय हो जाएगा और इसका असर झमाझम बारिश के रूप में नजर आएगा। फिलहाल दक्षिण पश्चिम मानसून की उत्तरी सीमा पोरबंदर, बड़ौदा, शिवपुरी, रीवा और चुर्क से गुजर रही है।

--

अब तक हुई साढ़े 6 इंच बारिश

-165 मिलीमीटर बारिश सीजन में हो चुकी है। यानी छह इंच से ज्यादा

- 96.3 मिलीमीटर यानी करीब साढ़े तीन इंच गत वर्ष आज के दिन तक हुई थी

- 52 इंच तक होती है जबलपुर में बारिश

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close