जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। बारिश की विदाई का समय आ गया लेकिन तीन माह बाद भी बारिश मानसून सीजन का आधा सफर पूरा नहीं कर पाई है। बारिश का दौर गुरुवार को थमा रहा। मध्यप्रदेश के ऊपर बने कम दबाव के क्षेत्र के कारण शुक्रवार को सुबह मौसम ने फिर रंगत बदली और बौछारे पड़ने लगी। लेकिन कुछ देर बाद ही बारिश फिर थम गई। पिछले 24 घंटे में महज 5.7 मिलीमीटर ही बारिश हुई। जबकि अभी तक सीजन में करीब 24.1 इंच बारिश ही हुई है। मौसम विभाग की माने वर्तमान में मध्य प्रदेश के उत्तर-मध्य क्षेत्रों में कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। मध्य प्रदेश में निम्न दाब क्षेत्र से होते हुए गंगीय बंगाल क्षेत्र तक अन्य ट्रफ लाइन गुजर रही है। इसके असर से आने वाले 24 घंटों में जबलपुर सहित आस-पास के जिलों में गरज-चमक के साथ बौछारे पड़ सकती है।

मौसम में घुली ठंडक : पिछले 24 घंटों से हो रही बारिश के बाद फिजाओं में ठंडक घुल गई है। ठंडी हवाओं से सिहरन महसूस होने लगी है। जिससे लोगों को उमस भरी गर्मी से निजात मिल गई है। बारिश के चलते नदी, तालाब भी मुस्कुराने लगे हैं। बरगी बांध का जलस्तर भी बढ़ गया है। मौसम विभाग की माने तो तापमान मौसम में ठंडक घुलने से अधिकतम तापमान में लगातार गिरावट रिकार्ड की जा रही है। शुक्रवार को सुबह बूंदाबादी के साथ ठंडी हवाओं से अधिकतम तापमान चार डिग्री तक गिरकर 26 पर आ गया है। जबकि न्यूनतम तापमान भी 23 डिग्री सेल्सियस के आसपास बना हुआ है।

ऐसी है अब बारिश की चाल :

- 613.0 मिलीमीटर यानी सीजन में अब तक 24.1 इंच बारिश हो चुकी है

- 992.1 मिलीमीटर यानी 39 इंच बारिश पिछले सीजन में अब तक हुई थी

- 52 इंच औसतन मानसून में होती है बारिश

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local