जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। मानसून के विदाई के साथ ही बारिश की उम्मीद भी खत्म हो गई थी। लेकिन पश्चिमी विक्षोभ के असर से सोमवार की शाम जिस तरह से जोरदार बारिश हुई उसे देखकर लोग अंचभित हो गए। अचानक हुई बारिश करीब पौन घंटे तक शहर को भिगोती रही। नालियां भी उफान पर आ गई। कई जगह सड़क और कालोनियां जलमग्न हो गई। रात में भी हल्की बूंदाबांदी का क्रम रुक-रुक कर जारी रहा। मौसम विभाग की माने तो दक्षिण पश्चिम मध्यप्रदेश के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र विकसित हो रहा है। इसके असर से 21 अक्टूबर तक इसी तरह जबलपुर सहित संभाग के जिलों में हल्की व मध्यम बारिश की संभावना है। मौसम विभाग के मुताबिक बारिश के बाद आने वाले कुछ दिनों में दिन और रात के तापमान में भी गिरावट देखी जा सकेगी। वातावरण में ठंड का अहसास बढ़ जाएगा।

बना है कम दबाव का क्षेत्र : मौसम विभाग के मुताबिक दक्षिण पश्चिम मध्यप्रदेश के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। पश्चिमी विक्षोभ का असर भी बना हुआ है। जिसके असर से 21 अक्टूबर तक जबलपुर सहित संभाग के जिलों में कहीं हल्की तो कभी मध्यम व तेज बारिश होने की संभावना है। 21 अक्टूबर के बाद मौसम साफ होते ही ठंड का अहसास भी बढ़ने लगेगा। फिलहाल बिना मौसम बरसात से लोगों को उमस भरी गर्मी से राहत मिल गई है। अधिकतम तापमान 31.9 और न्यूनतम 23.7 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। बारिश के बाद तापमान में मामूली गिरावट आने की संभावना जताई जा रही है।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local