जबलपुर, भोपाल। शुक्रवार को मौसम में अचानक परिवर्तन देखने को मिला। सुबह से ही डिंडौरी जिले में आसमान में घने काले बादल छा गए। सुबह से ही हवा का दौर भी चला और दोपहर लगभग दो बजे के बाद मूसलाधार बारिश का दौर शुरू हो गया। तेज बारिश दोपहर साढ़े तीन बजे तक होती रही।

उसके बाद भी कुछ समय के लिए रिमझिम बारिश का दौर चला। तेज बारिश से नगर में जगह-जगह जलभराव हो गया। लगभग एक इंच से अधिक बारिश जिला मुख्यालय में ही हुई है। तेज बारिश बजाग, करंजिया, गोरखपुर, गाड़ासरई, समनापुर सहित अन्य क्षेत्रों में भी हुई। यह बारिश धान की फसल के लिए लाभदायक बताई जा रही है। बारिश होने से ठंडक और बढ़ने के आसार हैं। दिनभर ठंडी हवाएं भी चलती रहीं। समनापुर में साप्ताहिक बाजार में भी बारिश के कारण खलल पड़ा।

अनूपपुर में सुबह कोहरा, दोपहर में बारिश

जिले में सुबह कोहरा छाया रहा और बादल भी छाए रहे, दोपहर को बारिश शुरू हुई जो कभी तेज तो कभी धीमी होती रही। शाम ढलने तक बादलों का जमावड़ा आसमान में रहा जिससे अंधेरा जैसी स्थिति बन गई।

शहडोल में रिमझिम

शहडोल में करीब ढाई बजे हल्की बारिश शुरू हो गई। मौसम में ठंडक घुल गई और शहर की सड़कें गीली हो गईं। मंडला, नरसिंहपुर, सिवनी, बालाघाट में भी दिनभर बादल छाए रहे।

पूर्वी-मध्य क्षेत्र पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना

भोपाल। मध्यप्रदेश के पूर्वी-मध्य क्षेत्र पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इस सिस्टम के कारण प्रदेश के पूर्वी और दक्षिणी इलाकों में बरसात की संभावना बढ़ गई है। इसी क्रम में शुक्रवार सुबह 8:30 बजे से शाम 5:30 बजे तक मलाजखंड में 1 मिमी. बरसात हुई।

मौसम विज्ञान केंद्र के प्रवक्ता के मुताबिक ऊपरी हवा का चक्रवात बना रहने के साथ ही अरब सागर से भी कुछ नमी मिल रही है। इससे प्रदेश के पूर्वी-दक्षिणी भाग में बादल छाने लगे हैं। साथ ही हल्की बौछारें पड़ने के भी आसार बढ़ गए हैं। मौसम विज्ञानी पीके साहा के मुताबिक बुरहानपुर, खंडवा, खरगोन, इंदौर, बैतूल में कहीं-कहीं बरसात हो सकती है।

शुक्रवार को चार महानगरों का तापमान

शहरअधिकतमन्यूनतम

भोपाल31.119.4

इंदौर31.019.4

जबलपुर30.720.5

ग्वालियर33.318.2

Posted By: Hemant Upadhyay