जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शासकीय विज्ञान महाविद्यालय के शारीरिक शिक्षण व खेल विभाग द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर वेबिनार का आयोजन किया गया। जहां नई शिक्षा नीति में खेल व योग के आयाम विषय पर चर्चा की गई। इस राष्ट्रीय संगोष्ठी में देश भर से शारीरिक शिक्षा के प्रतिभागियों ने सहभागिता की। विषय विशेषज्ञ बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से डा. अभिमन्यु सिंह विभागाध्यक्ष शारीरिक शिक्षा विभाग, डा. आदर्श तिवारी विभागाध्यक्ष पंडित शंभुनाथ शुक्ल विवि शहडोल, कुलदीप सिंह बरार बास्केटबाल कोच भारतीय खेल प्राधिकरण जबलपुर और शासकीय विज्ञान महाविद्यालय से योगाचार्य डा. शैलेंद्र श्रीवास्तव शामिल रहे।

सभी विषय विशेषज्ञों ने बताया कि नई शिक्षा नीति में खेल व योग को विशेष महत्व दिया गया है। जो कि विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास के लिए आवश्यक है। विद्यार्थी जीवन में खेल व योग को निश्चित तौर पर प्रत्येक विद्यार्थी को अपनाना चाहिए। कहते हैं कि यदि शरीर स्वस्थ रहेगा तो दिमाग भी स्वस्थ रहेगा। शरीर को स्वस्थ बनाने के लिए खेल व नियमित योग दिनचर्या में शामिल होना चाहिए। आजकल स्कूल के विद्यार्थियों में ही कई तरह की शारीरिक समस्याएं जैसे मोटापा, चश्मा लगना देखने मिल रही हैं। यदि बचपन से विद्यार्थियों द्वारा की जाने वाली शारीरिक गतिविधियों की ओर ध्यान दिया जाए तो काफी हद तक इन समस्याओं को हल किया जा सकता है। यदि बचपन से खेल व योग दिनचर्या में शामिल होंगे तो वे महाविद्यालयीन स्तर पर आने पर भी विद्यार्थियों को शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ रखेगा। इस वेबिनार के आयोजन में महाविद्यालय के विश्व बैंक परियोजना के समन्वयक डा. आरके श्रीवास्तव, डा. एसके पांडे व संजय जायसवाल का सहयोग रहा। यह आयोजन प्राचार्य डा. एएल महोबिया के निर्देशन में किया गया। संचालन डा.रमेश शुक्ल व आभार प्रदर्शन ओंकार दुबे ने किया।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local