जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। पश्चिम मध्य रेल भारतीय रेलवे के आनलाइन डिजिटल प्रणालियों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से लगातार प्रयास किए जा रहे है। इसमें पश्चिम मध्य रेल के महाप्रबंधक शैलेन्द्र कुमार सिंह के निर्देशन में तीनों मंडलों के मंडल रेल प्रबंधकों के नेतृत्व में माल यातायात में नई योजनाओं के तहत फ्रेट लोडिंग में वृद्धि हुई हैं। जिसमें पमरे द्वारा तीनों मंडलों में स्थापित व्यापार विकास इकाइयां माल यातायात को नई दिशा मिली है। जिससे व्यापारियों को अधिक से अधिक माल यातायात रेलवे द्वारा बुकिंग करने के लिए आकर्षित किया गया है। पमरे ने व्यापार विकास इकाइयां मार्केटिंग के तहत माल ढुलाई में रिकार्ड रेल राजस्व प्राप्त किया है।

आनलाइन भुगतान प्रणाली में यह है विशेषताएं: आनलाइन भुगतान प्रणाली भाड़ा और सभी प्रकार के सहायक शुल्क जिसमें प्रीमियम शुल्क, वैगन पंजीकरण शुल्क, विलंब शुल्क, व्हारफेज साइडिंग शुल्क, शंटिंग शुल्क, पुनः बुकिंग शुल्क, डायवर्जन शुल्क आदि के संग्रह के लिए भी सुविधा उपलब्ध है। एफबीडी के माध्यम से आनलाइन भुगतान प्रणाली 24 घंटे उपलब्ध रहेगी।

इस सुविधा के उपयोग से इच्छुक ग्राहकों को मांग के इलेक्ट्रॉनिक पंजीकरण ई.आरडी की नीति के तहत पंजीकरण के लिए निर्धारित प्रक्रिया के तहत एफबीडी पोर्टल पर खुद को पंजीकरण करना।

आनलाइन भुगतान नेट बेंकिंग, आरटीजीएस, एनईएफटी जैसे सभी माध्यमों टीएमएस लोकेशन पर ग्राहक के डैशबोर्ड के माध्यम से क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, यूपीआई जैसे सभी माध्यमों में उपलब्ध होंगे। इस प्रणाली के माध्यम से बैंक द्वारा प्राप्त भुगतान से बैंक द्वारा ऑनलाइन रिफंड किया जाएगा। ताकि व्यापारी को लेन देन में आसानी रहे।

इसी प्रकार पमरे ने माल यातायात के सुविधाओं को बढ़ाते हुए व्यापारियों को आनलाइन डिजिटल भुगतान कार्यान्वित किया गया है। आनलाइन माल ढुलाई भुगतान प्रणाली से लोडिंग व्यापारियों को आनलाइन भुगतान के लिए 24 घंटे समय सेवाएं उपलब्ध रहती है। इस सेवा का उपयोग करते हुए पश्चिम मध्य रेल ने पिछले तीन महीनों में 1227 रेलवे रिसिप्ट का आनलाइन भुगतान करके रुपये 238.10 करोड़ की आय रेल राजस्व में प्राप्त हुई है। वहीं पमरे द्वारा जून 2021 में आनलाइन माल ढुलाई भुगतान की शुरुआत हुई। इस महीनें में 163 रेलवे रिसिप्ट जनरेट करके यूपीआई माध्यम से आनलाइन भुगतान करके रुपए 53.67 करोड़ का रेल राजस्व प्राप्त किया है।

पमरे ने माह जुलाई 2021 में 374 रेलवे रिसिप्ट जनरेट करके यूपीआई माध्यम से आनलाइन भुगतान करके 85.80 करोड़ रुपये का रेल राजस्व प्राप्त किया है।

पमरे ने माह अगस्त 2021 में 690 रेलवे रिसिप्ट जनरेट करके यूपीआई माध्यम से आनलाइन भुगतान करके रुपए 98.63 करोड़ का रेल राजस्व प्राप्त किया है।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local