जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शहर में आज कई कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है। जिसमें शहर के सामाजिक, धार्मिक और राजनैतिक संस्‍थाओं के लोग शामिल होंगे। आप कार्यक्रमों में उत्‍साह के साथ शामिल हों लेकिन यह भी ध्‍यान रखें कि शहर में कोरोना के मरीज लगातार मिल रहे हैं। ऐसे में प्रशासन द्वारा विशेष टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। घर से निकलें तो सावधानी जरूर रखें और गाइड लाइन का पालन करें। क्‍योंकि जीवन की सुरक्षा भी जरूरी है।

गायत्री परिवार का दैनिक यज्ञ :

गायत्री परिवार संस्‍कारों के लिए जाना जाता है। जहां सुबह से रात तक धार्मिक आयोजन होते हैं। दमोह रोड मनमोहन नगर में गायत्री शक्तिपीठ में दैनिक यज्ञ का आयोजन सुबह 8 बजे किया जाता है। इस मंदिर की स्‍थापना आचार्य पंडित श्रीराम शर्मा ने 40 वर्ष पहले की थी। अगर आप शहर में हैं तो यहां दर्शन करने के लिए पहुंचे।

शास्‍त्र अध्‍ययन :

आइए हम चलते हैं श्री गोपाल मंदिर घमापुर में यहां प्रतिदिन सुबह 10 बजे से शास्‍त्र अध्‍ययन किया जाता है। मंदिर समिति द्वारा भगवान श्रीकृष्‍ण का नित्‍य पूजन किया जाता है। यहां भगवान की सेवा करने की अलग ही परंपरा है। साथ ही यहां पर तीर्थ स्‍थलों के विशेष पत्‍थर भी हैं। जिन पर भगवान की आकृति है।

मंगला आरती :

श्री गुप्तेश्वर महादेव मंदिर का इतिहास भी काफी पुराना है। कहा जाता है कि रामेश्‍वम में शिवलिंग की स्‍थापना से पूर्व भगवान राम ने यहां उपलिंग का निर्माण किया था। यहां प्रतिदिन सुबह 7.30 बजे मंगला आरती की जाती है। गुप्‍तेश्‍वर पीठाधीश्‍वर डा. मुकुंददास महाराज के नेतृत्‍व में भगवान का सुबह से अभिषेक किया जाता है।

नर्मदा महाआरती :

नर्मदा तट ग्‍वारीघाट उमाघाट में प्रतिदिन शाम 7 बजे से मां नर्मदा की महाआरती की जाती है। यहां संयोजक पंडित ओंकार दुबे और संतों के नेतृत्‍व में आरती करने शहर का जनमानस उपस्थित होता है। दस वर्षों में यहां राष्‍ट्रपति, सीजेआइ से लेकर प्रमुख न्‍यायाधीशों के अलावा सत्‍ता में बैठे मंत्री शामिल हो चुके हैं।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local