जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। पुलिस थानों में कामकाज का जायजा लेने के लिए पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा ने गुरुवार देर रात शहर का भ्रमण किया। वे औचक रूप से रांझी और माढ़ोताल थाना पहुंचे। दोनों थानों में पुलिस के कामकाज का जायजा लेकर अधीनस्थों को दिशा निर्देश दिए। उन्होंने दोनों थानों के हवालात का भी जायजा लिया और अधिकारियों से कहा कि हवालात में किसी भी प्रकार की घटना, दुर्घटना न होने पाए यह सुनिश्चित किया जाए।

नगर पुलिस अधीक्षक रांझी एमपी प्रजापति की उपस्थिति में थाना रांझी में एवं नगर पुलिस अधीक्षक गढ़ा तुषार सिंह एवं थाना प्रभारी माढ़ोताल रीना पांडे की उपस्थिति में थाना माढ़ोताल में जवानों के साथ औपचारिक बैठक की। अधिकारियों और जवानों को निर्देशित किया कि महिलाओं, बच्चों, वृद्धजन एवं समाज के कमजोर वर्गों के प्रति संवेदनशील रहते हुए उनकी शिकायतों पर तत्काल विधि संगत कार्रवाई करते हुए उन्हें राहत दी जाए। इस व्यवस्था में किसी प्रकार की लापरवाही नहीं होना चाहिए। पुलिस थानों में किसी भी शिकायत अथवा घटना की जांच निष्पक्ष एवं पारदर्शी होनी चाहिए। अनुसूचित जाति एवं जनजाति के प्रकरणों में पीड़ित को तत्काल राहत राशि दिलाई जाए। इसके साथ ही उन्होंने बीते वर्षों की तुलना में वर्ष 2021 में की गई प्रतिबंधात्मक एवं माइनर एक्ट कार्रवाई की समीक्षा की। विवेचना अधिकारियों को निर्देशित किया कि साल बीतने में कुछ समय शेष है। लिहाजा लंबित अपराध, मर्ग, शिकायत का प्राथमिकता के आधार पर निराकरण किया जाए

कोई भी प्रकरण अकारण लंबित नहीं होना चाहिए : पुलिस अधीक्षक ने कहा कि थाना क्षेत्र के गणमान्य नागरिकों से संवाद करते हुए आमसूचना संकलन को मजबूत करें। यदि किसी प्रकार की कोई समस्या है तो वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराते हुए उसका तत्काल निराकरण कराया जाए।

सीएम हेल्पलाइन की समीक्षा : पुलिस अधीक्षक ने दोनों थानों में सीएम हेल्पलाइन प्रकरणों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि शिकायतों का प्राथमिकता के आधार पर त्वरित संतुष्टीकारक समाधान किया जाए। साथ ही सीसीटीएनएस में सभी प्रकार की प्रविष्टियों को एवं सड़क हादसों के प्रकरणों का डाटा ‘आइ रेड एप’ (इंटीग्रेटिड रोड एक्सिडेंट डाटबेस) समय का विशेष ध्यान रखते हुए अपलोड किया जाए।

मिलावटखोरों पर कसो शिकंजा : पुलिस अधीक्षक ने कहा कि मिलावटखोरी, कालाबाजारी में लिप्त असामाजिक तत्वों तथा संगठित जुआ- सट्टा खिलाने वालों को चिन्हित करते हुए प्रभावी कार्रवाई की जाए। गुंडे व बदमाशों के विरुद्ध आपराधिक रिकार्ड को दृष्टिगत रखते हुए प्रभावी प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की जाए। साथ ही हाल ही में थाना क्षेत्र में हुई नकबजनी एवं वाहन चोरी की घटनाओं में फरार आरोपितों की पतासाजी कर शीघ्र गिरफ्तारी कर चोरी गई संपत्ति बरामदगी कर गश्त को प्रभावी बनाया जाए। उन्होंने जवानों से कहा कि कामकाज से संबंधित किसी भी तरह की परेशानी को लेकर उनसे सीधा संपर्क किया जा सकता है।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local