जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। गमछे से बेटी का मुंह पोंछना मां के लिए जानलेवा साबित हुआ। गमछे से मुंह पोंछने से नाराज पिता ने बेटी को लात मार दी। पत्नी ने बीच बचाव किया तो गर्दन काटकर उसे मौत के घाट उतार दिया। हत्या की सनसनीखेज घटना तिवारीखेड़ा पनागर में रविवार दोपहर करीब 2.30 बजे की है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजते हुए पुलिस ने आरोपित पति को गिरफ्तार कर लिया है। घटनास्थल से रक्तरंजित कुल्हाड़ी जब्त की गई। पनागर थाना प्रभारी आरके सोनी समेत अन्य अधिकारियों ने घटनास्थल का जायजा लिया।

पनागर पुलिस ने बताया कि तिवारीखेड़ा निवासी नंदू उर्फ नंदकिशोर केवट 45 वर्ष सोमवार दोपहर कहीं से घर पहुंचा। उसकी बेटी अंजलि 16 वर्ष तथा पत्नी कौशल्या केवट 42 वर्ष घर पर थे। जबकि बेटा रोहित केवट 19 वर्ष कहीं गया था। नंदू जब घर पहुंचा तो अंजलि उसके गमछे से मुंह पोंछ रही थी। नंदू उस पर भड़क गया तथा मारपीट करने लगा। उसने अंजलि को जब लात से मारा तो पास में बैठकर काम कर रही कौशल्या ने आपत्ति की।

सिर के बाद गर्दन पर चलाई कुल्हाड़ी-

पत्नी कौशल्या द्वारा बेटी की पिटाई का विरोध करने पर नंदू आग बबूला हो उठा। पास में रखी कुल्हाड़ी से उसने उसके सिर पर हमला कर दिया। कुल्हाड़ी के वार से सिर फट गया तथा कौशल्या जमीन पर लुढ़क गई। नंदू तब भी नहीं रुका और कुल्हाड़ी का दूसरा वार उसकी गर्दन पर कर दिया। सिर फटने व गर्दन कटने से कौशल्या ने मौके पर दम तोड़ दिया।

पहले पति को छोड़कर की थी दूसरी शादी-

पुलिस की जांच में सामने आया कि कौशल्या ने अपने पहले पति को छोड़कर नंदू से दूसरा विवाह किया था। रोहित उसके पहले पति का बेटा है। जबकि नंदू से विवाह के बाद कौशल्या ने अंजलि को जन्म दिया था। नंदू शराब पीने का आदी था तथा कच्ची शराब बेचता था। नशे की हालत में वह अक्सर पत्नी व बच्चों के साथ मारपीट करता था। कौशल्या के चरित्र पर भी वह संदेह करता था।

तीन दिन में हत्या की पांच वारदात-

जिले में तीन दिन के भीतर हत्या की पांच घटनाएं सामने आ चुकी हैं। शनिवार को गढ़ा, रविवार को हनुमानताल व संजीवनी नगर में हत्या की घटनाएं सामने आई थीं। जिसके बाद सोमवार को दो महिलाओं को मौत के घाट उतार दिया गया।

Posted By: Jitendra Richhariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close