Jabalpur News: जबलपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। बिजली कंपनी के नियमित, आउटसोर्स के अलावा संविदा कर्मियों ने शनिवार से कामबंद हड़ताल कर दी है। शहरी और ग्रामीण इलाकों में कई जगह विद्युत सप्लाई बाधित हुई। जहां सुधार कार्य नहीं हो सका। उपभोक्ता काल सेंटर में शिकायत दर्ज करवाते रहे। मप्र विद्युत तकनीकी कर्मचारी संघ ने हड़ताल जारी रखने का दावा किया है। शक्तिभवन मुख्यालय रामपुर में कर्मचारी धरने पर बैठे। मध्य प्रदेश विद्युत तकनीकी कर्मचारी संघ के तत्वावधान में संविदा अधिकारी कर्मचारी एवं आउटसोर्स कर्मचारियों ने हड़ताल की है। अपनी तीन सूत्रीय मांगों को लेकर आऊटसोर्स कर्मचारियाें ने हड़ताल शुरू की।

इन मांगों पर अड़े-

प्रदर्शनकारियाें ने आउट सोर्स कर्मी, मीटर रीडर सहित अन्य का संविलियन जाने और उनके जीवन को सुरक्षित रखने के लिए मानव संसाधन नीति बनाने समेत संविदा कर्मचारियों के नियमितीकरण और नियमित कर्मचारियाें को जो 15 सालों से जो फ्रिंज बेनिफिट नहीं दिया गया है उसे दिए जाने की मांग की। प्रदर्शनकारियां ने कहा कि प्रमुख ऊर्जा सचिव द्वारा संघ प्रतिनिधियों को वार्ता के लिए बुलाया जाना था, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

शहर में चार सौ से ज्यादा आउटसोर्स-

अकेले जबलपुर शहर के अंदर बिजली व्यवस्था को देखने के लिए 400 से ज्यादा आउटसोर्स कर्मी तैनात रहते हैं। अधीक्षण यंत्री शहर संजय अरोरा ने कहा कि नियमित 169 कर्मचारियों ने कार्य किया है। इस वजह से किसी तरह की गंभीर समस्या नहीं आई है। जबकि इसके उलट कई जगह मीटर रीडिंग नहीं हो पाई, कई उपभोक्ताओं के यहां बिजली बंद होने पर सुधार नहीं हुआ। मीटर कनेक्शन नहीं लग पाया। संघ के हरेंद्र श्रीवास्तव, मोहन दुबे, संतोष पटेल, अनिल दुबे, अजय सिंह,बाल्मीकि मिश्रा, धरमचंद जैन, राम चेतन शर्मा, महेंद्र बर्मन, गुलाब सिंह राजपूत, हरि सिंह सिकरवार, नारायण प्रसाद, कपिल कुशवाहा आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jitendra Richhariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close