जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। रमनगरा जल शोधन संयंत्र से एक हजार एमएम व्यास की समानांतर पाइपलाइन जोड़ने का काम युद्धस्तर पर जारी रहा। गुरुवार को भी रात में कार्य होता रहा। जिससे रमनगरा संयंत्र से पानी की 26 टंकियां नहीं भर पाई और शुक्रवार की सुबह भी आधे शहर के नागरिक पीने के पानी के लिए परेशान होते रहे। नगर निगम के अधिकारियों का कहना है कि तकनीकी अमला पाइपलाइन को जोड़ने में दिन-रात लगा हुआ है। पाइपलाइन के बैंड में वेल्डिंग का काम कर लिया गया है। वाल्व लगाकर होलकटर सहित अन्य कार्य भी जल्द से जल्द कर लिया जाएगा। उम्मीद है कि शुक्रवार की शाम या रात तक कार्य पूरा हो जाएगा। नागरिकों को शनिवार सुबह से पानी मिलने लगेगा।

समानांतर लाइन जुड़ने के बाद कभी नहीं होगा जलसंकट : नगर निगम के कार्यपालन यंत्री जल कमलेश श्रीवास्तव ने बताया कि नर्मदा जलप्रदाय योजनांतर्गत रमनगरा जल शोधन संयंत्र से जलापूर्ति की वैकल्पिक व्यवस्था बनाए रखने के लिए एक हजार एमएम व्यास की समांनातर पाइप लाइन को रमनगरा संयंत्र की से जोड़ने का अतिमहत्वपूर्ण कार्य युद्धस्तर पर किया जा रहा है। शुक्रवार की शाम तक कार्य पूरा होने की संभावना है। समानांतर लाइन जुड़ जाने के बाद इसे चालू कर दिया जाएगा। एक बार लाइन चालू हो गई तो फिर भविष्य में यदि रमनगरा की राइजिंग मेनलाइन में फाल्ट आता है तो समांतर लाइन से जलापूर्ति की जाएगी। भविष्य में जल संकट नहीं होगा।

इन टंकियों से बंद है जलापूर्ति : फिलहाल रमनगरा जलशोधन संयंत्र से टंकियों को की जाने वाली जलापूर्ति बंद होने से बिड़ला धर्मशाला, मेडिकल, गुलौआ, त्रिपुरी, रामेश्वरम, मदर टेरेसा, मनमोहन नगर, सर्वोदय नगर, राइट टाउन, मनमोहन नगर, लक्ष्मीपुर, आनंद नगर, कोतवाली लेमा गार्डन गोहलपुर, टिकुरी टोला, , मोतीनाला, वेदीनगर, मिल्क स्कीम एवं किलकारी गार्डन, गोहलपुर, कोंगवा, करमेता, शिवनगर, अमखेरा, रविंद्र नगर, सुहागी, खैरी, देवताल की टंकियां नहीं भरी जा रही है। जिसके कारण शहर की करीब पांच लाख आबादी पीने के पानी के लिए परेशान है। हालांकि नगर निगम द्वारा टैंकरों के माध्यम से प्रभावित क्षेत्रों में जलापूर्ति कराई जा रही है।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local