जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। एक निजी कंपनी में बतौर इंजीनियर काम करने वाले युवक ने नर्मदा नदी में कूदकर आत्महत्या कर ली। बताया जाता है कि इस कदम को उठाने से पहले युवक ने सिवनी में रहने वाले अपने भाई को बकायदा काल किया और उसको यह बताया भी कि वह आत्महत्या करने जा रहा है। जब तक उसका भाई कुछ कर पाता तब तक वह अपने आत्मघाती मंसूबों को अंजाम दे चुका था।

गौर चौकी प्रभारी टेकचंद शर्मा ने बताया कि 32 वर्षीय सौरभ अग्रवाल सिवनी जिले के घंसौर स्थित चंडी-खमरिया गांव का रहने वाला है। वह बीई की डिग्री लेने के बाद जबलपुर में रहकर आप्टिकल फाइबर केबिल बिछाने वाली एक निजी कंपनी में नौकरी कर रहा था। वह शादीशुदा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार सौरभ बुधवार की सुबह अपनी कार क्रमांक डीएल 03 सीके 7770 लेकर नर्मदा नदी के भटौली घाट पहुंचा। यहां उसने बायपास रोड के नजदीक कार खड़ी की और सिवनी में रहने वाले अपने एक रिश्तेदार राहुल अग्रवाल को काल किया, जिसमें उसने बताया कि वह नर्मदा नदी में कूदकर आत्महत्या करने वाला है। उसकी कार भटौलीघाट के पास खड़ी है। बताया जाता है कि इस घटना से पहले सौरभ का उसकी पत्नि से कुछ विवाद भी हुआ था। इसके बाद राहुल ने तत्काल अन्य परिजनों और घंसौर पुलिस को इसकी सूचना दी। इसके बाद सीएम हेल्पलाइन पर भी जानकारी दी। इतने के बाद घंसौर पुलिस की अोर से गौर चौकी को मामले की जानकारी दी गई। पुलिस ने भटौलीघाट पहुंचकर कार बरामद कर ली। कार में सल्फास की शीशी और सौरभ की चप्पलें भी पाई गई हैं।

गोताखोरों की मदद ली

कुछ नाविकों से पुलिस को जानकारी मिली थी कि उन्होंने किसी व्यक्ति को जिलहरी घट की ओर बहकर जाते देखा है। इसके बाद पुलिस ने सौरभ का पता लगाने गोताखाेरों को भी नदी में उतार दिया। ग्वारीघाट तक उसकी खेजबीन की गई, लेकिन देरशाम तक उसका कोई सुराग नहीं मिल पाया।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close