झाबुआ (ब्यूरो)। गुजरात के मोरवी शहर में शनिवार दोपहर भारी बारिश से मछुनगर सोसायटी की दीवार धराशायी हो गई। मलबे में दबने से दीवार के किनारे झोपड़े बनाकर रह रहे झाबुआ जिले के आठ आदिवासियों की मौत हो गई। इनमें 6 महिलाएं और 2 पुरुष शामिल हैं। चार घायलों का इलाज मोरवी के अस्पताल में चल रहा है।

शवों का पोस्टमार्टम हो गया और इन्हें झाबुआ भेजा जा रहा है। गुजरात सरकार की ओर से मृतकों के परिजन को 4-4 लाख रुपए की आर्थिक सहायता मिलेगी। मोरवी कलेक्टर आरजे मकाड़िया और पुलिस अधीक्षक करणराज सिंह घटनास्थल पर पहुंच गए थे।

शनिवार सुबह से ही मोरवी में तेज बारिश हो रही थी। सुबह 6 से दोपहर 1 बजे तक 10 इंच बारिश दर्ज हो गई। यही बारिश मजदूरी करने मोरवी गए झाबुआ जिले के आदिवासियों के लिए काल बनकर उभरी। मोरवी कंट्रोल रूम के संजय प्रसूलिया ने बताया कि हादसे में कस्मा सेनु (30), ललिता सेनुखराड़ी (16), तेजल सोनू खराड़ी (13) व अंकलेश् सेनु खराड़ी (14) निवासी नवागांव और विदेश मुंडाल डामोर (20) व कल्टी विदेश डामोर (19) निवासी बेड़वाद और आशा पुनिया अमलियार (15) व काली अलु अमलियार (18) की मौत हो गई। चारों घायलों की हालत खतरे से बाहर है। ये मोरवी में मजदूरी करते थे और झोपड़ी बनाकर तीन परिवार एक साथ रह रहे थे।

Posted By: Rahul Vavikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020