झाबुआ (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले के पेटलावद क्षेत्र के धतुरिया-लाबरिया मार्ग पर सड़क हादसे में चार लाेगों की मौत हो गई। रविवार को इस हादसे में करीब 19 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। इनका उपचार पेटलावद स्वास्थ्य केंद्र में चल रहा है। वहीं कुछ की स्थिति गंभीर होने की वजह से उन्हें अन्यत्र रेफर किया गया।सीएम शिवराज ने हादसे पर शोक जताया है।

जानकारी के मुातबिक पेटलावद विकासखण्ड के झकनावदा ग्राम की पाडलघाटी से माही नदी में अस्थियाें का विसर्जन करने के लिए ग्रामीणाें से भरी ट्रैक्टर ट्राली सुबह दोपहर 12 बजे करीब निकली थी। यह ट्रैक्टर धतुरिया-लाबरिया मार्ग पर रास्ते में अचानक अपना संतुलन खो बैठा और ट्राली सहित पलटी खा गया। हादसा इतना खतरनाक था कि ट्राली में बैठे फुलसिंह पूत्र मड़िया निवासी पाडलघाटी, रूपा पुत्र सकलिया निवासी पाडलघाटी और अपसिंह पुत्र मला कटारा निवासी बरखेड़ा, केगु पूत्र रामा गरवाल निवासी पाडलघाटी की मौके पर ही मौत हो गई।

कई हुए गंभीर घायल

इस हादसे में दवसिंह पूत्र मानसिंह डामोर, घुमला पूत्र रायचंद भूरिया, कैलाश पूत्र भादरिया वसुनिया, भल्लू पूत्र बिजिया डामोर, वजसिंह पूत्र पांगल डामोर, मकना पिता पुंजिया डामोर, रतन डामोर, कानजी, केसू गरवाल, कुनसिंह गरवाल, छितु भूरिया, रत्ना पिता बिदिया डामोर, कांजी पिता जोगड़िया मैड़ा, भुरा गेहलोत,कुशल भूरिया, कमजी मेहजी डामोर, मकन खेमजी, टिटू मडिया बारिया, मिटु गेहलोत, लालसिंह डामोर, रूपसिंह सोमला, दिता गेहलोत सभी निवासी पाडलघाटी गंभीर रूप से घायल हो गए। इन्हें संजीवनी 108 की सहायता से पेटलावद स्वास्थ्य केंद्र उपचार के लिए लाया गया। जहां इनका उपचार किया जा रहा है।

विधायक पहुंचे घायलाें का हाल जानने

घटना की जानकारी विधायक वालसिंह मैड़ा को लगी, तो वे फोरन घटनास्थल पहुंचे, यहां घटना के बारे में जानकारी ली। इसके बाद वहां से तत्काल पेटलावद हास्पिटल पहुंचे। यहां विधायक ने सभी घायलाें से मुलाकात की और उन्हें हर संभव मदद की आश्वासन दिया। इसके बाद मृतकाें के परिजनाें को भी ढांढस बंधाया।

मृतकाें के परिजनाें ने किया हंगामा

घटना के बाद पाडलघाटी में मृतकाें के परिजनाें ने हंगामा शुरू कर दिया। उन्हाेंने इस घटना के पीछे ट्रैक्टर चालक की गलती बताई और यह आरोप लगाया कि चालक अगर सूझबूझ से ट्रैक्टर चलाता तो यह हादसा नही होता। घटना के बाद ट्रैक्टर चालक वहां से क्यों भागा, इस पर भी परिजनाें ने आक्रोश जताया। परिजनाें द्वारा हंगामें की जानकारी पुलिस के आला अधिकारियाें को लगते ही पेटलावद एसडीओपी सोनू डावर, पेटलावद टीआई संजय रावत, रायपुरिया टीआई अनिल बामनिया आदि दलबल के साथ गांव में पहुंचे और ग्रामीणाें को समझाइश दी।

परिजनाें का रो-रोकर बुरा हाल

घटना के बाद पोस्टमार्टम के लिए शवाें को पेटलावद पीएम केंद्र लाया गया। यहां परिजनाें का रो.रोकर बुरा हाल हो गया।

एक बैड पर दो-दो घायलाें का हुआ उपचार

इस हादसे में पेटलावद स्वास्थ्य केंद्र पर विडंबना भी देखने को मिली। बैड खाली नही होने से एक बैड पर दो-दो गंभीर घायलाें का उपचार किया जा रहा था। यहीं नही कुछ घायलाें का उपचार जमीन पर लेटाकर किया जा रहा था।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local