झाबुआ। मामाजी की कर्मस्थली बामनिया से 19 जनवरी को शुरू हुई आदिवासी जनचेतना यात्रा का शनिवार शाम झाबुआ से सटे बिलीडोज में प्रवेश हुआ। रविवार को यात्रा का शहर में कई सामाजिक संगठन व संस्थाएं स्वागत करेंगी। सुबह 9 बजे से ही पदयात्री डॉ. विक्रांत भूरिया के नेतृत्व में बिलीडोज के जैन पब्लिक स्कूल से निकलेंगे। कॉलेज मार्ग, भंडारी पेट्रोल पंप, गोपाल कॉलोनी, राजगढ़ नाका, डीआरपी चौराहा, कालिका माता मंदिर मार्ग, चारभुजानाथ मंदिर, राजवाड़ा चौक और यहां से बाजार होते हुए पिटोल रवाना होगी। पिटोल में रविवार शाम 7 बजे संगोष्ठी होगी, वहीं रात्रि विश्राम भी रहेगा। यात्रा का अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद की जन्मस्थली आजादनगर में मंगलवार को समापन होगा। यात्रा सोमवार की रात को देवली में रुकेगी। मंगलवार को सुबह यहां से 10 बजे तक आजादनगर पहुंच जाएंगी।

Posted By: