छापामार कार्रवाई में दो गोदामों में

26 लाख का अवैध माल मिला

- झाबुआ निवासी है गोदाम मालिक

- महुआ के फूल और केमिकल से बना गुड़ रखा था

कुशलगढ़ (राजस्थान)। नईदुनिया न्यूज

यहां पर दो गोदाम से महुए के फूल व केमिकल से बना गुड़ भारी मात्रा में मंगलवार को छापामार कार्रवाई के दौरान मिला है। कार्रवाई करने गए दल के अनुसार यह माल लगभग 26 लाख की लागत का है। झाबुआ निवासी विजय राठौर ने अपने दो गोदामों में अवैध रूप से इनका भंडारण करके रखा था। इसके लिए कोई अनुमति नहीं ली गई थी और न ही टेक्स जमा किया गया था।

सरकारी दल के छापामार कार्रवाई में सनसनीखेज मामला सामने आया है। कुशलगढ़ के रामगढ़ बस स्टैंड पर मप्र के झाबुआ निवासी विजय राठौर के नाम से करुणा इन्टरप्राइजेज के नाम महुआ फूल खरीद -बिक्री का लायसेंस है। रतलाम रोड हिरण नदी तट के किनारे उदयबाग के पास दो बड़े गोदाम में भारी मात्रा में महुआ फूल व गुड़ पाया गया। मौके पर गए उपखंड अधिकारी सुमन मीणा ने कृषि उपज मंडी के अधिकारियों को तलब किया। जिसके बाद यह मालूम हुआ कि गोदाम संचालन व भंडारण संबधी किसी गोदाम की स्वीकृति नहीं है। वहीं रामगढ़ बस स्टेण्ड पर करूणा इन्टरप्राइजेज की ओर से वर्ष 2018 के बाद खरीद संबंधी कोई टैक्स भी अदा नहीं किया गया है।

यह है गणित

कुशलगढ़ जैसे जनजाति बाहुल्य क्षैत्र में सबसें अधिक शराब दुकानों का संचालन होता है। जहां देशी महुआ की कच्ची शराब बनाकर बेची जाती है। ऐसे में देशी महुआ फूल को ड्रम में पानी डालकर गलानें पर वैसे पाचं दिन में महुए कच्ची शराब बनाने के उपयोग में लिए जाते है लेकिन केमीकल सें बना गुड़ मिलाने से वो ही महुआ फूल दो दिन में कच्ची शराब बनानें के लिए तैयार हो जाते है। आखिर किसकी शह पर इतने बड़े महुआ फूल के गोदाम व केमिकल के बने गुड़ का भंडारण कर बेचा जा रहा था।

इनका कहना हैउपखंड अधिकारी मीणा ने कहा कि कुशलगढ़ में अवैध तरीके से महुआ फूल व गुड़ के भंडारण की जानकारी मिलनें पर सत्यापन के बाद कार्रवाई की गई। जिसमें एफएसटी टीम सहित पुलिस अधिकारी मौकें पर मौजुद रहें प्रथम दृष्टया 26 लाख के करीब लागत का माल बिना स्वीकृति के भंडारण कर रखा है। कृषि उपज मंडी कें अधिकारियों को नियमानुसार कार्रवाई के निर्देश दिए है।

17 जेएचए 04 - कुशलगढ में गोदाम पर छापामार कार्रवाई करते उपखंड अधिकारी।