जयवर्धन पहुंचे जनता के द्वार

आज विजयवर्गीय की रैली

झाबुआ। नईदुनिया प्रतिनिधि

उपचुनाव के कारण चुनावी घमासान मचा हुआ है। भाजपा और कांग्रेस दोनों ही दल ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में पहुंच रहे हैं। शनिवार को नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धनसिंह शहर की अयोध्या बस्ती में गए और लोगों से बातचीत की। शहर के अन्य हिस्सों में भी उन्होंने भ्रमण किया। रविवार को भाजपा झाबुआ शहर में वाहन रैली निकालेगी, जिसमें पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय शामिल होंगे। वाहन रैली राजगढ़ नाका से दोपहर 12 बजे शुरू होगी, जो शहर के मुख्य मार्गों से होकर राजवाड़ा चौक पर समाप्त होगी। इसके बाद शाम चार बजे विजयवर्गीय भगोर में आयोजित सेक्टर सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में भाग लेंगे। वहीं भाजपा प्रदेशाध्यक्ष राकेशसिंह 13 अक्टूबर को विधानसभा क्षेत्र के पिपलिया में अपरान्ह 11 बजे, बन ग्राम में दोपहर 3 बजे तथा शाम 5 बजे ढोल्यावाड़ा में सेक्टर सम्मेलन में शामिल होंगे।

ग्रामीण इलाकों के साथ-साथ झाबुआ शहर में कांग्रेस की ओर से मंत्रियों ने मैदान संभाल रखा है। जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा भी सक्रिय रहे। शुक्रवार को मंत्री सचिन यादव, सुरेंद्रसिंह बघेल, तुलसी सिलावट ने युवा कार्यकर्ता सम्मेलन में शिरकत की। छोटी-छोटी टोलियां बनाकर जनता के बीच पहुंचे

सोशल मीडिया पर भी दोनों दलों के बीच चुनावी जंग जारी है। कांग्रेस ने छिंदवाड़ा में हुए विकास को लेकर फोटो के माध्यम से एक पोस्टर तैयार किया है, जिसे डॉ. विक्रांत भूरिया की फे सबुक आईडी से वायरल किया जा रहा है। कांग्रेस की आईटी सेल द्वारा छिंदवाड़ा मॉडल की तर्ज पर झाबुआ के विकास की बात को लगातार प्रमोट किया जा रहा है।

भाजपा ने भी सोशल मीडिया पर प्रचार तेज कर दिया है। सांसद गुमानसिंह डामोर सहित पूर्व जिलाध्यक्ष शैलेष दुबे, दौलत भावसार, पूर्व विधायक निर्मला भूरिया, थांदला के पूर्व विधायक कलसिंह भाबोर के वीडियो सोशल मीडिया पर जारी कि ए हैं, जिसमें वे कांग्रेस सरकार को घेरते नजर आ रहे हैं।

चुनाव आया तो छह-छह मंत्री झाबुआ आ गए : राकेशसिंह

झाबुआ। नईदुनिया प्रतिनिधि

प्रदेश में भाजपा सरकार के समय में जब कोई आपदा आती थी, तब तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान खेत-खेत जाते थे और कि सान के कंधे पर हाथ रखकर कहते थे कि चिंता मत करो, मामा तुम्हारे साथ है। कमलनाथजी को मुख्यमंत्री बने नौ महीने हो गए, उनको कि सी खेत में देखा क्या? उपचुनाव है, तो वोट मांगने के लिए छह-छह मंत्री झाबुआ में डेरा डाले हुए हैं लेकि न आपदा के समय कभी कोई मंत्री आपके बीच आकर खड़ा हुआ क्या?

यह बात भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद राकेशसिंह ने झाबुआ के ग्रामीण मंडल के पिलिया खांदन, ढेकल बड़ी, सेमलिया,करडावदबडी, खेड़ी और पिटोल बड़ी सेक्टर के फलिया प्रभारी और सह प्रभारियों को संबोधित करते हुए कही। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि यह उपचुनाव बहुत महत्वपूर्ण है। यह के वल विधायक बनाने के लिए नहीं है, बल्कि आप सभी आदिवासी भाई-बहनों को न्याय दिलाने के लिए चुनाव हो रहा है। उन्होंने कहा कि इस देश में एक वर्ग है जो न्याय के साथ खड़े होने के लिए तैयार है और न्याय करने का अधिकार आपको है, इसलिए अपने भाइयों-बहनों के साथ न्याय करने के लिए आगे बढ़ें। प्रत्येक घर में जाकर पूछिए कि कांग्रेस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया ने जिन-जिन योजनाओं की बात की है, उन योजनाओं का लाभ मिल रहा है क्या? कर्जमाफी का जो वादा कांग्रेस ने किया था, कि सी भी कि सान का कर्ज माफ हुआ है क्या? न्याय के लिए प्रत्येक आदिवासी भाई-बहन को एकत्र कीजिए, क्योंकि 21 तारीख को न्याय का फै सला होना है, चुनाव का फै सला नहीं।

एक परिवार, तीन लोगों में सिमटकर रह गई कांग्रेस

सिंह ने कहा कि भाजपा प्रत्याशी एक साधारण कार्यकर्ता है। वह कि सी खास परिवार का सदस्य नहीं है। झाबुआ में कांग्रेस पार्टी के वल तीन लोगों में सिमटकर रह गई है। कभी कांतिलाल भूरिया, विक्रांत भूरिया तो कभी कलावती भूरिया। कांग्रेस को हमारे बाकी आदिवासी भाइयों में कोई भी योग्य दिखाई नहीं देता।

12एएलआई 11 - भाजपा के सेक्टर सम्मेलन में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रदेशाध्यक्ष राकेशसिंह।

12एएलआई 12 - भाजपा प्रत्याशी भानू भूरिया का रानापुर में चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया से सामना हो गया। इस दौरान भानू ने भूरिया के पैर छुए और आशीर्वाद लिया।