नोट : इसके नीचे या आसपास चिमनी वाली खबर लगा दें....

चार घंटे बिजली मिलना चाहिए

मिल रही सिर्फ 10-15 मिनट

-किसानों ने दफ्तर जाकर निकाली भड़ास

मेघनगर नईदुनिया न्यू।

सिंचाई के लिए पर्याप्त बिजली नहीं मिलने पर अगराल, कल्लीपुरा, नरसिंहपुरा, उमरदा, गोपालपुरा,आमलीपठार आदि गांवों के सैकड़ों किसानों ने विद्युत कंपनी के दफ्तर में शुक्रवार को भारी नाराजी जताई और नियमानुसार बिजली प्रदाय करने की मांग की। आक्रोशित किसानों ने अधिकारी का घेराव कर भड़ास निकाली।

ग्राम अगराल के मनोहर पाटीदार, विनोद पाटीदार तथा राहुल पाटीदार का कहना है कि 4 घंटे विद्युत प्रदाय की जगह 10 मिनट ही विद्युत प्रदाय किया जाता है। इसमें भी वॉल्टेज कम ज्यादा होने से घरों के टीवी, फ्रिज और कई महंगे उपकरण आये दिन जल रहे है। विद्युत प्रदाय भी फेस टू फेस दिया जा रहा है, जो कई बार बिल्कुल डाउन रहता है। इससे कईं मोटरें भी जल गई है। तहसील का फीडर भी बराबर नहीं चल रहा है। अगराल के मनोज पांचाल का कहना है कि थ्री फेस पर विद्युत प्रदाय चलते हुए ही एक फेस काट दिया जाता है जबकि बिना विद्युत प्रदाय बंद किए इस तरह से किया जाना उचित नहीं हैं। विद्युत प्रदाय का समय भी रात 2 बजे का निश्चित है, लेकिन 4 बजे बाद किया जाता है, वह भी 10 या 15 मिनट ही दिया जाता है। सभी किसानों ने कटौती का विरोध करते हुए विद्युत प्रदाय नियत शेड्यूल पर करने की मांग की। इधर विद्युत की कटौती के चलते पूरे नगर में नागरिक परेशान रहे। पिछले दो-तीन दिनों से शादियों का मौसम चल रहा है ऐसे में बार-बार कटौती की जाने से लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।शुक्रवार को दिन भर बिजली आंखमिचौनी करती रही जिससे नागरिकों में काफी आक्रोश रहा।

लोड की समस्या आ रही

इस संबंध में झाबुआ से आए विद्युत अधिकारी एसडी मंडलोई ने बताया कि लोड की समस्या आ रही है। मेघनगर के लोड को कल्याणपुरा में डायवर्ट करने का परीक्षण जल्द ही किया जाएगा। इस प्रकार डायवर्ट करने से 30 से 40 एम्पीयर का लोड कल्याणपुरा लाइन पर देने से यह समस्या शीघ्र ही हल हो जाएगी।

22 जेएचए 25- मेघनगर में विद्युत कंपनी के दफ्तर में आक्रोश व्यक्त करते हुए किसान।

Posted By: Nai Dunia News Network