झाबुआ (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के आदेशानुसार जिला विधिक सेवा प्राधिकरण झाबुआ द्वारा बाल संवर्धन तथा संरक्षण सप्ताह के अंतर्गतशुक्रवार से गुरुवार तक अभियान चलाया जा रहा है। इसी कड़ी में मंगलवार को बच्चों को मैत्रीपूर्ण विधिक सेवाएं व उनके संरक्षण के लिए विधिक सेवाएं योजना-2015 अंतर्गत शासकीय माध्यमिक विद्यालय माधोपुरा झाबुआ में विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया।

यह शिविर प्रधान जिला व सत्र न्यायाधीश अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण झाबुआ मोहम्मद सैय्यदुल अबरार के निर्देशानुसार तथा विशेष न्यायाधीश महेंद्रसिंह तोमर की अध्यक्षता व जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव तथा जिला न्यायाधीश लीलाधर सोलंकी की उपस्थिति में किया गया। कार्यक्रम के प्रारंभ में विशेष न्यायाधीश तोमर, जिला न्यायाधीश सचिव सोलंकी व स्कूल प्राचार्य द्वारा मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण कर शिविर का शुभारंभ किया गया। इसके बाद तोमर द्वारा शिविर के संबंध में उपस्थित छात्र-छात्राओं को बताया गया कि विद्यार्थियों को उनके अधिकारों और कानून का पूरा ज्ञान होना चाहिए, क्योंकि ज्ञान के अभाव में आप अनेक ऐसी परिस्थितियों का सामना करते हैं, जिसे नहीं करना चाहिए। कोई भी परिस्थिति में आप अपने अधिकार का उपयोग करें।

संस्कारों की बदौलत ही अच्छे समाज का निर्माण

तोमर ने छात्रों को समाज सेवा और संस्कारों के बारे में बताते हुए कहा कि हमारे संस्कारों की बदौलत ही अच्छे समाज का निर्माण होता है और अच्छे देश का निर्माण होता है। हमें अपने गुरु व माता-पिता का सम्मान करना चाहिए। शिविर में उपस्थित जिला न्यायाधीश सचिव सोलंकी ने उपस्थित समस्त छात्र-छात्राओं को जानकारी देते हुए चाइल्ड हेल्पलाइन नंबर 1098, नालसा हेल्पलाइन नंबर 15100, मोटरयान अधिनियम, लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम, बाल शिक्षा, बाल श्रम, बाल विवाह की विस्तार पूर्वक जानकारी दी। शिविर में बच्चों को बताया गया कि अगर आपके आसपास जो बच्चे स्कूल नहीं जाते हैं, उन्हें स्कूल जाने के लिए प्रेरित करें। उक्त शिविर में स्कूल प्रधान पाठक महेशचंद जैन, अध्यापक, प्रतिभा अलसे, ज्योत्सना पंड्या, कलावती व सुनीता ढाकिया उपस्थित रहीं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close