रामगढ़ (नईदुनिया न्यूज)। गांव में चल रही संगीतमय भागवत कथा के सातवें दिन सुबह हवन-पूजन करने के बाद शाम को आरती, प्रसादी एवं भंडारे का आयोजन किया गया। इसमें बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने भाग लिया। कथा आयोजन का लाभ शिवराम गोपालजी पाटीदार द्वारा लिया जा रहा है।

कथावाचक पंडित गोपाल शुक्ला ऊंटवासा उज्जैन वालों ने कहा कि मानव जन्म मिलना एवं ऐसे भागवत कथा रूपी ज्ञान यज्ञ में आहुति देना, हमारे एवं आपके लिए बहुत ही सौभाग्य की बात है। हमने कथा सुनी और अब उसे हमारी दैनिक दिनचर्या में उतारना बहुत ही कठिन काम है। कृष्ण-रुक्मिणी हरण का प्रसंग सुनाते हुए विद्वान वक्ता पंडित शुक्ल ने बताया कि जिस प्रकार मंदिर के अंदर रुक्मिणी बैठी थी, लेकिन उनके आसपास उनका भाई रुक्मी और उसकी सेना रुक्मिणी को बाहर कहीं जाने नहीं दे रही थीं, तभी भगवान श्रीकृष्ण वहां रथ को लेकर आए और दरवाजा खटखटा कर रुक्मिणी को उठाकर ले गए। ऐसा ही यह शरीर हमारा मंदिर है और इसमें मन रूपी रुक्मिणी बैठी हैं, लेकिन उसको काम, क्रोध, मद, मोह, लोभ, मत्सर आदि इस मन को भगवान के पास जाने नहीं देते हैं। उनके चरणों में लगने नहीं देते हैं, इसलिए भगवान से हमें प्रार्थना करना है कि हे भगवान इस माया से मुझे बाहर निकालो, मेरा हरण कर लो, जिस प्रकार रुक्मिणी का हरण किया था।

महाविद्यालय में प्रवेश प्रक्रिया शुरू

विद्यार्थी 31 मई तक प्रथम चरण में प्रवेश के लिए पंजीयन करवा सकते हैं

पेटलावद (नईदुनिया न्यूज)। देवी अहिल्या विश्वविद्यालय ने सत्र 2022-23 के लिए कालेज में प्रवेश प्रक्रिया की मंगलवार से शुरुआत हुई। विद्यार्थी 31 मई तक प्रथम चरण में प्रवेश के लिए पंजीयन करवा सकते हैं। पंजीयन प्रक्रिया के साथ ही बुधवार से सत्यापन प्रक्रिया भी शुरू हो गई।

शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में प्रवेश के लिए तैयारियां की हैं। वही बीए, बीएससी के अंतिम वर्ष के परीक्षा परिणाम अभी घोषित नहीं हुए हैं। ऐसे में विद्यार्थियों को प्रवेश को लेकर चिंता सता रही है। विश्वविद्यालय ने प्रवेश प्रक्रिया में बदलाव किया है। इसमें छात्रा प्रथम, द्वितीय वर्ष की परीक्षा परिणाम के आधार पर आनलाइन आवेदन कर सकते है। आनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 31 मई है। इस बार प्रवेश प्रक्रिया एक ही चरण में हो रही है। हालांकि तीन चरण में सीएलसी राउंड होंगे। सत्यापनकर्ता आनलाइन विद्यार्थी के दस्तावेजों का सत्यापन करेंगे। यदि सत्यापन के दौरान त्रुटि पाई जाती है तो त्रुटि सुधार के लिए प्रक्रिया अपनाई जाएगी। इसमें विद्यार्थी के पास त्रुटि सुधार के लिए मैसेज पहुंच जाएगा। इसके बाद विद्यार्थी त्रुटि सुधार कर सकते हैं। इन सबके बीच प्रवेश को लेकर विद्यार्थियों में उत्साह देखा गया।

जून तक सत्यापन प्रक्रिया निर्धारित की गई है

महाविद्यालय में भी कई विद्यार्थी प्रवेश प्रक्रिया की जानकारी लेने पहुंचे। हालांकि प्रवेश प्रक्रिया आनलाइन होने से विद्यार्थी कहीं से भी आनलाइन पंजीयन करवा सकते हैं। प्रथम चरण में 31 मई तक पंजीयन किया जाएगा। वहीं एक जून तक सत्यापन प्रक्रिया निर्धारित की गई है।

स्नातकोत्तर 2022-23 के प्रथम वर्ष के लिए मंगलवार से आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। पहले दिन विद्यार्थियों को प्रवेश को लेकर चिंता दिखाई दी। वहीं वर्ष 2021-22 के बीए, बीकाम, बीएससी के अंतिम वर्ष का परीक्षा परिणाम विश्वविद्यालय ने घोषित नहीं किया है। वहीं अब संभावना जताई जा रही है कि मई के अंतिम सप्ताह ने विद्यार्थियों का परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया जाएगा। परीक्षा परिणाम नहीं आने की वजह से इस बार प्रथम व द्वितीय वर्ष के परीक्षा परिणाम के आधार पर विद्यार्थी आवेदन कर सकते हैं। कॉलेज में सीट मिल जाती है और अगर विद्यार्थी फाइनल परीक्षा में किसी कारण से फेल हो जाता है तो उसका रजिस्ट्रशन निरस्त कर दिया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close