पेटलावद(नईदुनिया न्यूज)। अविश्वसनीय जब घट जाता है तो वह दर्शनीय हो जाता है। मणिलाल के बारे में लोग विस्मय से यही कह रहे हैं। क्या उन्होंने तपस्या की? तब तो देखने आना पड़ेगा पर उन्होंने आत्मा को निर्मल करने का श्रेष्ठ कार्य काया से किया है। यह समझदारी का कार्य है मनुष्य जन्म कुछ कर जाने के लिए मिला है। यह समझ आ जाने पर दुष्कर कार्य भी व्यक्ति कर लेता है। पेटलावद के घरों में शहनाई तो खूब बज गई है। इस चातुर्मास में हर घर से तपस्या की शहनाई बजना चाहिए, ताकि हर घर में शाश्वत सुख की स्थापना हो सके। श्रीसंघ में मधु बहन कटारिया, संजय मोदी, सुहानी मेहता तपस्या से कर्म निर्जरा का महान कार्य कर रहे हैं। उन सभी से अधिक से अधिक जुड़कर पर्युषण पर अधिक से अधिक नवरंगी तपस्या की झड़ी लगाना है। उक्त विचार पुण्य पुंज साध्वीश्री पुण्यशीला जी ने श्री संघ उपाध्यक्ष मणिलाल चाणोदिया द्वारा अपने जीवन की पहली बड़ी 11 उपवास की तपस्या करने पर आयोजित तप समारोह में व्यक्त किए।

तपस्वियों का सम्मान किया

पेटलावद गौरव साध्वी महकश्री जी ने कहा एसिडिटी को रोकने में जो एसीलाक काम करती है। वहीं आत्मा में अहंकार की एसिडिटी रोकने में जिनवाणी अचूक औषधि का काम करती है। मधु कटारिया 27, संजय मोदी के 21, सुहानी मेहता 12, मांगीलाल राठौड़ 10, रवि मेहता के 3 उपवास की तपस्या चल रही है। पारस मोदी अंजलि कटकानी व एक गुप्त तपस्वी ने धर्म चक्र की आराधना पूर्ण की है। 10 वर्षीय अणु ऋषभ कटकानी ने लगातार 33 दिन तक बेयासना किया। उनका श्री संघ द्वारा सम्मान किया गया। महावीर समिति अणु मित्र मंडल द्वारा भी तपस्वी का सम्मान किया गया। महावीर समिति के अध्यक्ष संजय चाणोदीया, अणु मित्र मंडल अध्यक्ष सिद्दू चाणोदिया, पूर्व उपाध्यक्ष सोहनलाल चाणोदिया, अमृता भंडारी, मनीष पिरोदिया, चेल्सी भंडारी ने शब्दों व गीतों से अपने भाव रखें। चाणोदिया का बहुमान राहुल भंडारी ने नौ उपवास तो पुष्पा पिरोदीया ने एकासने के मासखमण की बोली लेकर किया। चौबीसी का आयोजन अभय कुमार शांतिलाल चाणोदिया परिवार और प्रभावना संजय कुमार शांतिलाल चाणोदिया अशोक मेहता की ओर से वितरित की गई। कार्यक्रम का संचालन राजेंद्र कटकानी द्वारा किया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close