झाबुआ (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिलेभर में गुरुवार को रक्षाबंधन पर्व हर्ष और उल्लास से मनाया गया। बहनों ने भाइयों की कलाई पर रक्षासूत्र बांधकर पर्व मनाया। पर्व को लेकर सुबह से ही बाजार में रौनक थी। दोपहर में तो स्थिति यह थी कि अच्छी-खासी भीड़ दिखाई दे रही थी। सबसे अधिक उठाव मिठाई व कपड़ों का हुआ। कुल मिलाकर बाजार दिनभर गुलजार दिखाई दिया।

भाई-बहन के इस पर्व को मनाने के लिए सुबह से ही उत्साह दिखाई दे रहा था। बाजार में भी अच्छी-खासी रौनक बनी हुई थी। दुकानों पर भी भीड़ दिखाई दे रही थी। मुख्य बाजार में अच्छी-खासी भीड़ होने के कारण जाम जैसी स्थिति भी बन गई।

मिठाई का अधिक उठाव

सबसे अधिक भीड़ मिठाई व रक्षासूत्रों की दुकानों पर दिखाई दे रही थी। सभी जगह महिलाओं ने अपनी पसंद की रक्षासूत्र व मिठाई की खरीदी की। यातायात पुलिस दिनभर बाजार में घूमकर यातायात व्यवस्था को सुधारने में लगी हुई थी।

बहनों ने सुबह शुभ मूहुर्त में बांधी भाइयों की कलाई पर राखी

पेटलावद(नईदुनिया न्यूज)। तुम्हारी कलाइयों में रक्षा की राखी, बरस दर बरस मैं बांधती रहूंगी। दिल में उमंगे और चेहरे पर खुशियां, हर एक पल मैं सजाती रहूंगी....जी हां, रक्षाबंधन के अवसर पर बहनें अपने भाई को राखी बांधकर भाई से यह उम्मीद करती है।

वह जीवनभर उसकी रक्षा करेगा। सावन महीने की पूर्णिमा को गुरुवार को भाई-बहन के स्नेह का प्रतीक पर्व रक्षाबंधन शहर सहित पूरे अंचल में धूमधाम से मनाया गया। कच्चे धागों का पक्का बंधन, रक्षा बंधन। हर बहन ने अपने भाई को राखी बांधी। जिसका भाई उससे दूर है। उस बहन ने उसे राखी भेजी गई। सुबह से ही शुभ मुहूर्त में बहनों ने अपने भाइयों कर कलाई पर रक्षासूत्र बांधा। वहीं कई श्रद्धालुओं ने त्योहार पर मंदिरों में अपने ईष्ट देवता को राखी अर्पण कर सुख-समृद्धि की कामना भी की।

बाजार में रही रौनक

रक्षाबंधन पर्व के चलते गुरुवार को भी शहर के बाजारों में खासी रौनक रही। बाजार में दुकानें रंग-बिरंगी राखियों से सजी थीं। झंडा बाजार, गणपति चौक, पुराना बस स्टैंड, नया बस स्टैंड इलाकों में सजी दुकानों में महिलाओं सहित बालिकाओं ने दिनभर राखियों की खरीदारी की। बाजार में बच्चों के लिए इस बार कार्टून कैरेक्टर वाली राखियां भी आई थीं, जिन्होंने बच्चों को खासा लुभाया। इसकी बाजार में खासी धूम रही।

बसों में रही भीड़

रक्षाबंधन त्योहार को लेकर दो दिन पहले से ही बसों में भीड़-भाड़ रही। इस वजह से होने से यात्रियों को अन्य वाहनों का भी सहारा लेना पड़ा।

बने कई शुभ योग

पंडित नरेंद्र नंदन दवे ने बताया गुरुवार को रक्षाबंधन के पावन पर्व कई शुभ योग बने। इस साल रक्षाबंधन पर गजकेसरी योग और शोभन योग का निर्माण हुआ। वहीं धनिष्ठा नक्षत्र भी गुरुवार को था। यह सभी राखी पर सुंदर योग बना रहे थे। इस बार भद्रा का साया होने पर भी पृथ्वी पर इसका असर नहीं था। इस अवसर पर बहनों ने भाइयों की दीर्घायु और खुशहाल जीवन की कामना की और भाइयों ने भी उनकी रक्षा का वचन दिया।

बाजार में सुबह से ही चहल-पहल रही

रानापुर(नईदुनिया न्यूज)। गुरुवार को रक्षाबंधन पर्व को लेकर बाजार में सुबह से ही चहल-पहल थी। भाई बहन के पवित्र प्रेम के प्रतीक रक्षाबंधन का त्योहार उत्साह के साथ मनाया गया। कोरोना काल के दो वर्ष के बाद इस वर्ष बाजार सुबह से ही गुलजार थे। दोपहर तक तो बाजार में पैर रखने की जगह नहीं थी। लोगों ने जमकर खरीदी की।

मिठाई-नारियल की जमकर बिक्री हुई

रक्षाबंधन पर्व पर बाजार में राखी के साथ ही मिठाई के साथ ही नारियल की जमकर खरीदी हुई। इनके साथ गिफ्ट की दुकानों पर भी भी.ड देखी गई। रक्षाबंधन पर्व पर बहनों द्वारा भाई को गिफ्ट के लिए कप.डे का चलन एकाएक ब.ढ गया। इसको देखते हुए कप.डा बाजार मे भी अच्छी ग्राहकी हुई। नगर व अंचल में गुरुवार को शुभ मुहूर्त में भाई की कलाई पर राखी बांधने का सिलसिला दिनभर चलता रहा। इस बार भी स्थानीय प्रशासन की अव्यवस्थाओीं के बीच लोगों को आवाजाही में बेहद परेशानियों का सामना करना प.डा। नगर के अलावा बाहर से आने वाले व्यापारियों द्वारा बेतरतीब दुकानें लगाने व व्यस्त मार्ग में चार पहिया वाहन रखने से परेशानियों में इजाफा हुआ। नागरिकों की समस्या देखने वाला कोई नही था।

बहनों ने भाइयों की कलाई पर बांधी स्नेह की डोर

थांदला(नईदुनिया न्यूज)। रक्षाबंधन का पावन पर्व थांदला व अंचल में धूमधाम के साथ मनाया गया। दिन के समय वर्षा की फुहार के बीच बहनें अपने भाई के घर जाती हुई दिखाई दी। भाई भी बहनों के घर जाकर अपनी कलाई सजाते दिखाई दिए। भाइयो का हाथ बहना की रंग-बिरंगी राखियों से सज गया। गुरुवार को बहनों ने आरती सजाकर माथे पर अक्षत, द्रव्य व गुलाल का टीका लगाकर आरती उतारी तथा भाई के हाथ को राखी से दमका दिया। वही भाई को अपने हाथ से मिठाई खिलाकर उनके आने वाले दिनों में मिठास भर दी, तो भाई भी उन्हें उपहार देकर या फिर रुपए थमाकर उनके रक्षा का वचन भी दिया। रक्षाबंधन पर्व पर विद्वान पंडितों द्वारा गुरुद्वारा एवं अंबिकेश्वर महादेव घोड़ा कुंड मंदिर पर श्रावणी कर्म यज्ञोपवित संस्कार का आयोजन कर सभी ब्राह्मणों ने विधिपूर्वक पूजन अर्चन के साथ हेमाद्रि कर यज्ञोपवित धारण की।

रक्षाबंधन से दिखाई दिया बाजार गुलजार

रक्षाबंधन से नगर का बाजार गुलजार रहा। बाजार में खरीदारी के लिए ग्राहकों की अच्छी खासी भीड़ दिखाई दी। जिससे नगर के व्यापारियों के चेहरों पर रौनक लौट आई। नगर के मुख्य बाजार पीपली चौराहा,आजाद चौक, एमजी रोड पर राखी की दुकानें लगीं। थांदला के साथ काकनवानी, परवलिया, हरिनगर आदि ग्रामीण क्षेत्रों में भी राखी व मिठाई की दुकानें सजीं

यातायात व्यवस्था रही गड़बड़

रक्षाबंधन पर्व पर बाजार में ज्यादा रही। ग्रामीण क्षेत्र से काफी ज्यादा तादाद में ग्रामीण बाजार में खरीदारी करने के लिए आए, ऐसे में बाजार की यातायात व्यवस्था बिल्कुल चौपट रही। नगर के मुख्य मार्ग एमजी चौराहा, पिपली चौक, आजाद चौक पर दिनभर कई बार जाम जैसी स्थिति रही।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close