यशवंतसिंह पंवार, झाबुआ । शुक्रवार को हुए त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर लोगों में जबर्दस्त उत्साह देखा गया।

हर घर से ग्रामीण निकलकर मतदान करने पहुंचे। यहां तक की दूर-दूर से श्रमिक भी वोट डालने के लिए आ गए । ग्राम सरकार बनाने का उत्साह इस कदर रहा कि दोपहर तीन बजे तक वोटिंग का समय था और जिले में 72.06 प्रतिशत मतदान हो चुका था। इसके बाद भी अधिकांश केंद्रों पर कतार लगी हुई थी। कुछ केंद्रों पर मतदान ज्यादा विलंब तक नहीं चला, मगर जब शाम होते-होते मतपेटी खुलने लगी तो अनसोचे परिणाम सामने आने लगे।

जिले से बाहर गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान मजदूरी करने गए श्रमिकों को आने-जाने का किराया देकर बकायदा बुलवाया गया। यह कार्य अत्यंत ही व्यावहारिक तरीके से हुआ । जो उम्मीदवार यात्रा खर्च लेकर गांव में पहले पलायन करने वाले वोटर के स्वजनों के पास पहुंचा, उसी को समर्थन मिला। इस कवायद में एक-एक वोटर को गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान आदि स्थानों से यहां आने-जाने का खर्च दिया गया। बताया जा रहा है कि एक-एक वोट लाने में दो-तीन हजार रुपये तक खर्च हो गए । कुल मिलाकर यह चुनाव अब तक का सबसे महंगा चुनाव साबित हुआ है । राजनीतिक स्पर्धा इसमें उच्चतम स्तर पर रही और युवाओं की भूमिका भी अहम रही । इन कारणों के चलते शाम होते-होते जब मतपेटियां खुलने लगी तो अप्रत्याशित परिणाम सामने आने लगे थे।

पंचायत चुनाव का दूसरा चरण शुक्रवार को जिले के चार ब्लाक में संपन्ना हुआ। झाबुआ, रानापुर, रामा व मेघनगर ब्लॉक में अलसुबह से ही लोकतंत्र का उत्सव मनाने का जुनून दिखने लगा था। सुबह सात बजे मतदान शुरू हुआ, मगर मतदान केंद्रों के बाहर समय से पहले ही कतार लग गई थी । एक साथ तीन या चार वोट देने के कारण मतदान प्रक्रिया धीमी गति से चली, मगर ग्रामीण हर केंद्र पर डटे रहकर अपनी बारी आने का इंतजार करते रहे।

यह रही स्थिति

- 487777 कुल मतदाता

-04 ब्लाक में चुनाव हुए

-231 पंचायतों में उत्साह

-803 मतदान केंद्र बने

-3867 उम्मीदवार मैदान में उतरे

दोपहर 3 बजे तक मतदान

- 72.06 प्रतिशत औसत मतदान

- 73.92 प्रतिशत झाबुआ ब्लाक में

-71.88 प्रतिशत रामा ब्लाक में

-65.44 प्रतिशत रानापुर ब्लाक में

-76.07 प्रतिशत मेघनगर ब्लाक में

दोपहर 1 बजे तक मतदान

- 53.47 प्रतिशत औसत मतदान

- 56.48 प्रतिशत झाबुआ ब्लाक में

-58.65 प्रतिशत रामा ब्लाक में

- 43.35 प्रतिशत रानापुर ब्लाक में

-54.21 प्रतिशत मेघनगर ब्लाक में

इनके हुए चुनाव

- 08 जिला पंचायत सदस्य

- 69 जनपद सदस्य

- 229 सरपंच

- 3867 उम्मीदवार मैदान में रहे

ऐसा होना चाहिए

- 02 सरपंच निर्विरोध

- 01 जनपद सदस्य निर्विरोध

- 2545 पंच निर्विरोध

- 01 पंचायत सभी महिलाओं को

जिला मुख्यालय पर प्रचार

पंचायत चुनाव का माहौल जिला मुख्यालय पर भी परवान चढ़ा। झाबुआ के सबसे बड़े कालेज खेल मैदान के समीप रास्ते के एक तरफ रहने वालों के नाम नगर पालिका के वार्ड क्रमांक 11 में है। वही दूसरी तरफ रहने वालों के नाम आंबाखोदरा व बिलिडो के मतदान केंद्र में है। ग्रामीण नेताओं ने यहां आकर वोट मांगे व अपना प्रचार किया। हालांकि शहर से बहुत कम संख्या में ही वोटर उक्त केंद्रों पर गए। बिलिडो का केंद्र तो शहर में रहा, लेकिन यहां दोपहर 12 बजे होते-होते ही सन्नााटा छा गया।

कोई नहीं आया अब तक

शहर से सटे आंबाखोदरा मतदान केंद्र पर नाम होने के बावजूद झाबुआ से कोई वोटर दोपहर तक नही पहुंचा था। ग्रामीण हालांकि उत्साह से वोटिंग करते रहे। 477 में से 266 वोट दोपहर 12 बजे तक डल चुके थे। 80 वर्षीय बुजुर्ग महिला नूरीबाई को आटो से वोट डालने के लिए उनकी एक स्वजन लेकर आई। सरपंच उम्मीदवार तौलिया भाबोर ने बताया कि गादिया कालोनी के रहवासियों के नाम हैं, मगर वोट डालने अब तक कोई भी नही आया है। पंच के सभी 21 वार्ड निर्विरोध रहे हैं।

सुबह से ही जम गए

चारोलीपा.डा के मतदान केंद्र पर सुबह 5 बजे से ही ग्रामीण जम गए थे। दो केंद्र स्कूल भवन में बनाए गए । 962 में से एक केंद्र पर 356 व दूसरे केंद्र पर 320 वोट दोपहर 12.30 बजे तक डल चुके थे। ग्रामीण नेता पारू ने बताया कि पलायन स्थलों से वोट डालने के लिए ग्रामीणों को बुलवाया गया है, मगर उनको आने-जाने का किराया उम्मीदवार को ही देने पड़ा है।

पुलिस खदेड़ती रही

गोला छोटी में 2423 वोटर होने से चार मतदान केंद्र बनाए गए। सड़क से लगे स्कूल भवन में केंद्र होने से ग्रामीण सड़क पर ही जम गए। ऐसे में केंद्र से 100 मीटर दूर करने के लिए पुलिस को मेहनत करना पड़ी। बार-बार ग्रामीणों को खदेड़ने के साथ ही मोबाइल पर उनका वीडियो बनाने की चेतावनी दी जाती रही। हालांकि मतदान अच्छा हुआ। दोपहर 1 बजे तक 80 प्रतिशत मतदान हो गया था।

88888888888

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close