झाबुआ। राजेंद्र कांसवा की तलाश में एसआईटी की टीम महाराष्ट्र पहुंच गई है। खुद टीम इंचार्ज एएसपी सीमा अलावा भी गई हुई हैं। कांसवा के छुपे होने वाले सभी संभावित स्थानों के बारे में पता लगाया जा रहा है। सूत्रों के अनुसार एसआईटी उस पूरे रूट पर तलाश कर रही है, जिसका उपयोग कांसवा की पत्नी-बच्चों या उसके भाइयों ने भागने या लौटने के लिए किया।

इसके पहले भी पुलिस की कई टीम मुंबई, शिर्डी और महाराष्ट्र के अनेक स्थानों पर जाकर कांसवा को तलाश चुकी है। 18 दिन बाद भी उसके बारे में कोई सुराग नहीं मिलने से एसआईटी पर खासा दबाव भी है। ऐसे में हर एंगल से जांच की जा रही है। सोमवार को एसआईटी प्रभारी सीमा अलावा अपनी टीम के कुछ साथियों के साथ महाराष्ट्र पहुंची। इसीलिए कुछ लोगों का पोलिग्राफिक टेस्ट कराने के लिए भी एसआईटी ने पत्र लिखा है।

100 से ज्यादा लोगों से पूछताछ, सुराग नहीं

एसआईटी अब तक 100 से ज्यादा लोगों से पूछताछ कर चुकी है। राजेंद्र कांसवा, नरेंद्र और फूलचंद के परिवारों के अलावा उनके दूर के कई रिश्तेदारों, परिचितों तथा व्यापार के संपर्क वाले लोगों को पूछताछ के लिए बुलाया जा चुका है। यहां तक 12 सितंबर को पेटलावद शहर से बाहर गई हर गाड़ी के ड्राइवर और मालिक से पूछताछ की गई। इसमें उन लोगों को भी परेशान होना पड़ा, जो घायलों को बाहर के अस्पतालों में लेकर गए थे। -निप्र

कर रहे हर कोशिश

एसआईटी अपनी ओर से पूरी कोशिश कर रही है। हर पहलू पर जांच और तलाश कर रहे हैं। महाराष्ट्र में टीम गई और अन्य स्थानों पर भी जाएगी।

-सीमा अलावा, एसआईटी प्रभारी, एएसपी, झाबुआ