Road Safety Campaign Jhabua: पेटलावद (नईदुनिया न्यूज)। बच्चों सड़क पार करते समय दाएं-बाएं देखना और सावधानीपूर्वक सड़क पार करना चाहिए है। हमेशा ये याद रहे कि दुर्घटना से देर भली। जिंदगी है तो कहीं भी पहुंच सकते हैं। जल्दबाजी में दुर्घटना हो गई तो जान जा सकती है, आपके शरीर का कोई अंग क्षतिग्रस्त हो सकता है, जिससे आपको जिंदगीभर की यातना हो सकती है।

हेलमेट पहनना इसलिए जरूरी है कि इससे आपके सिर पर चोट ना आए। सिर पर चोट आने से आप कोमा में जा सकते हैं , साथ ही आपकी जिंदगी भी जा सकती है। यातायात नियमों का सही तरीकेसे पालन हो तो दुर्घटनाएं टाली जा सकती हैं। तेज रफ्तार जीवन में हर किसी को आगे निकलने की जल्दी रहती है। दुर्घटनाओं पर अंकुश तभी लग सकता है, जब यातायात नियमों का पालन सही से हो। उक्त बातें नईदुनिया यातायात अभियान के तहत शुक्रवार को गुरुकुल एकेडमी पेटलावद में स्कूल के चेयरमैन आकाश चौहान ने स्कूल के विद्यार्थियों से कहीं। उन्होंने स्कूल के बच्चों को यातायात के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। बच्चों ने भी यातायात के नियमों को ध्यान से सुनकर उस पर अमल का फैसला लिया।

नियमों का कड़ाई से पालन करना चाहिए

स्कूल सेके्रटरी हर्षिता चौहान ने बच्चों को नियमों की जानकारी देते हुए कहा कि स.डक पार करते समय संकेतकों का ध्यान अवश्य रखें। सड़क के दोनों ओर देखने के बाद सड़क क्रास करना चाहिए। अगर कोई वाहन आ रहा है तो हमें उस वाहन के निकलने का इंतजार करना चाहिए। कार चलाने के दौरान आप अपने पालकों से सीट बेल्ट लगाने का जरूर कहिए। सीट बेल्ट लगाने से दुर्घटना के दौरान सुरक्षित रहा जा सकता है। हम सभी नित्य प्रति सड़कों पर सफर करते हैं। हमारा यह सफर सुरक्षित होना चाहिए, इसीलिए सड़क सुरक्षा और यातायात से जुड़े नियम बनाए गए हैं। सभी नियम आपकी सुरक्षा के लिए ही हैं, इसलिए हमें सभी नियमों का कड़ाई से पालन करना चाहिए। अगर आप नियमों का पालन करेंगे तो आपका सफर सुरक्षित होगा।

हेलमेट पहनने के कारण मुझे सिर पर चोट नहीं आई

- स्कूल के प्राचार्य अतुल मेहता ने बताया कि नियमों के पालन से दुर्घटना में होने वाली मौतों को रोका जा सकता है। अधिकांश हादसे तेज गति के कारण होते हैें। वाहन जब भी चलाओ हेलमेट अनिवार्य रूप से पहनो। एक सड़क दुर्घटना में मेरी जिंदगी हेलमेट ने ही बचाई थी। हेलमेट पहनने के कारण मुझे सिर पर चोट नहीं आई।

- स्कूल शिक्षक प्रणय राव पवार ने भी बच्चों को यातायात के नियमों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि आप सभी को ग्रीन, येलो ओर रेड सिग्नल की जानकारी अनिवार्य रूप से होना चाहिए। रेड सिग्नल पर आपको रुकना है तो ग्रीन सिगन्ल पर आपको सड़क पार करनी है। येलो होने पर आपको वाहन चालाने की तैयारी करना है। इसी के साथ पापा के साथ कार में सफर करने के दौरान सीट बैल्ट लगाकर रखें। कभी भी वाहन से बाहर की ओर ना झांके।

यात्रियों की सुरक्षा आपका कर्तव्य

अभियान में सहयोगी पिंटू चौहान ने बस चालकों और आटो चालकों को नियमों की जानकारी देते हुए कहा कि वाहन हमेशा नियंत्रित गति में चलाएं । ओवरटेक करते वक्त विशेष रूप से ध्यान रखें। उन्होंने कहा कि यात्रियों की सुरक्षा आपका कर्तव्य है। आप अपने वाहन के दस्तावेज जैसे लाइसेंस, बीमा, फिटनेस आदि हमेशा पूर्ण रखें। दस्तावेज में अगर कमी रही तो आपको दिक्कतें उठानी पड़ सकती हैं। महिलाओं का विशेष ध्यान रखें। रात्रि के दौरान कोई यात्री अगर आप से अपने घर तक छोड़ने का कहता है तो उसकी मदद करें।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close