Sri Krishna Janmashtami 2020 : झाबुआ से यशवन्तसिंह पंवार। एक-एक कानो रमे गोपियों ने संगे पाए झांझर नो झमकार रे गोपियों रास रमे.......,वागी रही वासलड़ी बृन्दातीवन मां ऊभो वागड़ नन्दलाल रे गोपियों रास रमे....जैसे भजनों के माध्यम से कृष्ण प्रणामी को मानने वाले भक्त जन्माष्टमी पर विशेष उत्सव मनाते हैं। इस भक्ति मार्ग को अपनाने के बाद भक्तों का जीवन ही बदल गया है। जन्माष्टमी पर नवयुगल का सम्मान करते हुए उन्हें आगे के जीवन के लिए कृष्णजी से आशीर्वाद दिलवाया जाता है।

कृष्ण प्रणामी ट्रस्ट रजला के अध्यक्ष सोमसिंह सोलंकी का कहना है कि जो कृष्ण को प्रणाम करता हो ,वह कृष्ण प्रणामी कहलाते हैं। गुजरात के जामनगर, सूरत व प्रदेश के पन्ना में पावन धाम वर्षों पहले स्थापित हुए। परम् पूज्य गुरु रश्मिकांत भट्ट हरकुंडीधाम गोधरा के आशीर्वाद से जिले में यह तेजी से फैलता गया। आज करीब 5 लाख भक्त हो गए हैं। गुजरात से प्रेरित होकर जिले में मुख्य रूप से इस पद्दति का आगमन हुआ।

कंठी धारण करते हैं

गुरुओं से कंठी व माला लेने के बाद इस संप्रदाय से जुड़ने वाले पूर्णतः सात्विक जीवन जीते हैं। मदिरा का त्याग कर दिया जाता है। सुधारवादी धार्मिक आंदोलन भी इसे कहा गया है। नियमित स्नान, पूजा-अर्चना व भजन करते हुए घर-घर में जन्माष्टमी पर भक्त उपवास करते हुए इस मौके पर उत्सव मनाते हैं।

वायरस से बचाव,उत्साह कम नहीं

सोलंकी का कहना है कि कोरोना वायरस से बचाव करते हुए हर साल की तरह आयोजन नही होंगे लेकिन उत्साह में कोई कमी नहीं है।मन्दिर में ट्रस्ट विशेष आरती व पूजा आदि करेगा। घर-घर मे भजन होंगे। कृष्ण जी की महिमा का भजनों के माध्यम से जगह-जगह गान किया जावेगा। फर्क सिर्फ इतना है कि पहले रास गरबा सामूहिक तौर पर बड़े स्तर पर होता था, अब इस साल परिवारों में ही होगा। नवयुगल जन्माष्टमी को उसी उत्साह से मनाएंगे।सभी बुजुर्गो से आशीर्वाद लेने के साथ ही गुरुओं को भी प्रणाम करेंगे।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020