समाजसेवी व मशहूर शायरा ज्योति आजाद खत्री ने कहा कि आज कोरोना महामारी से जहां एक तरफ पूरा देश जूझ रहा है, वहीं दूसरी तरफ़ देखने में आ रहा कुछ लोग बढ़ चढ़कर अपने प्रचार प्रसार में लगे हैं। किसी को एक केला भी अगर देते हैं तो उसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर लगा देते हैं। उन्होंने कहा कि लंबी लंबी स्टोरी के साथ। ये वक़्त सस्ती पब्लिसिटी का नहीं, बल्कि दिल से मदद करने का है। रूरतमंदों की तस्वीर लगाकर उनकी गरीबी का कृपया माक न बनाया जाए। लॉकडाउन की स्थिति में कुछ घर ऐसे हैं, जिन्हें अगले चार पांच महीनों तक कुछ भी सोचने की रूरत नहीं, क्योंकि उनके अकाउंट में इतना पैसा है कि उन्हें चिंता नहीं है भोजन और रूरत के सामान की। दूसरी तरफ कुछ ऐसे लोग हैं, जिनके पास न रहने को घर है न भरपेट दो वक़्त की रोटी । आज देश को सधो सेवकों की रूरत है, जो ऐसे लोगों की मदद के लिए आगे आये निःस्वार्थ भावना से न कि अपनी वाहवाही के लिए दिखावा करें।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close