फोटो 9ए। पंचायती धर्मशाला में सैंपल लेती स्वास्थ्य विभाग की टीम।

9 बी। सैंपल देने के लिए लगी लोगों की लाइन।

मुरैना। अभी तक व्यापारी वर्ग के लोग व दुकानदार सैंपल देने से बच रहे थे और केवल थर्मल स्क्रीनिंग कराने के बाद कोरोना फ्री की पर्ची मांग रहे थे। जब रविवार से प्रशासन ने सैंपल लेने के केंद्र बढ़ा दिए तो व्यापारी वर्ग से लोग न तो जांच कराने आए और न ही सैंपलिंग ही कराई। वहीं जब सोमवार को प्रशासन ने साफ कर दिया कि जब तक कारोबारियों व उनके वर्कर की 100 फीसद सैंपलिंग नहीं होगी तब तक बाजार नहीं खुलेंगे। इस आदेश के बाद मंगलवार को एलएमबी कन्या विद्यालय व पंचायती धर्मशाला में सैंपल देने वालों की संख्या बढ़ गई। अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि एमएलबी विद्यालय में मंगलवार को 190 सैंपल हुए और पंचायती धर्मशाला में भी एक दिन में 150 सैंपल हो गए। इसी तरह मेडिकल मार्केट में भी 202 सैंपल हो गए।

पंचायती धर्मशाला में लगी रही लाइन

पंचायती धर्मशाला व आसपास का क्षेत्र कोरोना संक्रमित क्षेत्र में है, लेकिन यहां 11 बजे से ही लोगों की लाइन सैंपल देने के लिए लग गई। चूंकि सैंपल भरने से पहले फार्म भरने व किट बनाने में समय लगता है, इसलिए 150 सैंपल ही हो पाए।

एमएलबी कन्या स्कूल

यहां पर व्यापारियों के अलावा आसपास के लोगों ने अपने सैंपल कराए। इसलिए यहां भी भीड़ थी। यही वजह रही कि यहां पर 190 सैंपल हो गए।

दवा मार्केटः दवा मार्केट में यूं तो सैंपल का केंद्र नहीं है, लेकिन कलेक्टर ने कहा था कि जहां पर सौ से अधिक लोग होंगे, वहां पर मोबाइल टीम भेजकर सैंपल कराए जाएंगे। इसलिए यहां पर मोबाइल टीम पहुंची और फार्म व किट बनाने का काम पहले ही हो गया था। इसलिए यहां पर सबसे तेज 202 सैंपल हुए।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close