शिवपुरी। कोरोना वायरस महामारी के संकट को देखते हुए सोमवार को कैबिनेट मीटिंग में अहम फैसला लिया गया। इसके तहत सांसद निधि को दो साल के लिए टाल दिया गया। वहीं राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, राज्यपाल सहित तमाम सांसदों ने भी अपने वेतन का 30 फीसदी योगदान देने का फैसला किया है। भाजपा मीडिया प्रभारी ने बताया कि क्षेत्र के सांसद डॉ. केपी यादव ने केंदीय मंत्रिमंडल के इस निर्णय का स्वागत करते हुए कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंन्द्र मोदी की अध्यक्षता में कोरोना वायरस की माहमारी के चलते मंत्रिमंडल द्वारा सांसदों की निधि आगामी दो वर्षो के लिए स्थगित की गई। वहीं सांसदों के वेतन में भी 30 प्रतिशत कटौती का निर्णय देशहित में लिया गया है, वह इसका सच्चे ह्दय से स्वागत करते हैं। उन्होंने कहा कि विकास कार्य तो निंरतर चलने वाली प्रक्रिया है, लेकिन आज देश पर जो बड़ी विपदा आई उसका मुकाबला हम सबको मिलकर करना है। व प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के इस निर्णय का स्वागत करते हैं। यह निर्णय आगामी दूरदर्शिता एवं देश हित में लिया गया निर्णय है। यह राशि इस माहमारी के रोकने के काम आएगी स्वास्थ्य सेवाओं में ली जाएगी।

पीके यूनिवर्सिटी के द्वारा मार्क्‌स सैनिटाइजर का किया गया वितरण

दिनारा। देश इस समय कोरोना वायरस रूपी भयंकर संकट की चपेट में है। इस वायरस के रोकथाम के लिए विशेषज्ञों के द्वारा अधिक से अधिक मास्क और सैनिटाइजर का उपयोग बहुत जरूरी बताया गया है। दिनारा के पास स्थित पीके यूनिवर्सिटी भी इस संकट की घड़ी में देश के साथ कदम से कदम मिलाकर चलने की कोशिश कर रही है। इसी तारतम्य में यूनिवर्सिटी के निर्देशक जितेंद्र मिश्रा और उनके स्टाफ के द्वारा करैरा, दिनारा, झांसी के आसपास के क्षेत्रों में जरूरतमंदों को मास्क, सैनिटाइजर निशुल्क वितरण किया जा रहा है। यूनिवर्सिटी के निर्देशक जितेंद्र कुमार मिश्रा ने बताया कि यूनिवर्सिटी की कोशिश है कि अधिक से अधिक जरूरतमंदों को मार्क्‌स और सैनिटाइजर बवाने का प्रयास किया जा रहा है। अभी तक 5 हजार से अधिक मास्क यूनिवर्सिटी के द्वारा बांटे जा चुके है। इस कार्य में नवीन श्रीवास्तव, अभिषेक श्रीवास्तव, गौरव सक्सेना, दीपक धमसैया, पुरुषोत्तम लोधी, विपिन शर्मा अपनी भूमिका निभा रहे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close