नईदुनिया, झांसी । मध्य प्रदेश से सटे उत्तर प्रदेश के झांसी जिले के एक गांव में घर के सामने बरात खड़ी थी, लेकिन जो दुल्हन थी, उसे अपने प्रेमी के आने की आस थी। दरवाजे पर आई बरात को दुल्हन ने लौटा दिया। इसके बाद उसने अपने प्रेमी के साथ मंदिर में जाकर विवाह रचा लिया। असहाय स्वजनों को भी प्रेमी-प्रेमिका के फैसले के आगे झुककर उन्हें आशीर्वाद देना पड़ा।

झांसी के लहचूरा थाना क्षेत्र के ग्राम धवाकर निवासी एक लड़की की शादी 30 मई को तय हुई थी। इसके चलते ग्राम मड़वा से बरात ग्राम धवाकर स्थित दुल्हन के घर के दरवाजे पर जा पहुंची, लेकिन दुल्हन को यह शादी मंजूर नहीं थी। बरात को दरवाजे पर देख दुल्हन ने डायल-100 पर फोन कर पुलिस को बुला लिया।

इसके बाद पुलिस पूरी बरात को लहचूरा थाने में ले गई। थाना प्रभारी आध्याप्रसाद वर्मा ने बताया कि लड़की ने जबरन शादी किए जाने की सूचना दी थी, इसलिए पुलिस मौके पर गई थी। चूंकि लड़की बालिग है, वह अपनी मर्जी से शादी कर सकती है, इसलिए थाने में सभी पक्षों में सहमति बनने के बाद लड़की की शादी उसके माता-पिता ने प्रेमी से कर दी। किसी पक्ष ने पुलिस में कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई।

पुष्पवर्षा कर दिया आशीर्वाद

रविवार को सुबह दुल्हन ने मऊरानीपुर के ग्राम मेलोनी निवासी अपने प्रेमी गज्जू के साथ गांव के ही एक मंदिर में हिंदू रीति रिवाज के अनुसार शादी रचा ली। उक्त शादी के दौरान दुल्हन व प्रेमी के स्वजनों को दुल्हन के फैसले के आगे झुकना पड़ा। नव दंपति आशीर्वाद देकर उन्हें विदा किया गया।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close