कटनी (नईदिुनिया प्रतिनिधि)। कलेक्टर के निर्देश पर जिले भर में जल संरचनाओं का निर्माण कराया जा रहा है ताकि बारिश के पानी को अधिक से अधिक रोका जा सके। सीईओ जिला पंचायत जगदीश चंद्र गोमे द्वारा निरंतर विभिन्ना जनपद पंचायतों की ग्राम पंचायतों में भ्रमण करते हुए निर्माणाधीन अमृत सरोवरो की मॉनिटरिंग की जा रही है। सोमवार को श्री गोमे द्वारा जनपद रीठी क्षेत्र अंतर्गत ग्राम ममार घनियां के अमृत सरोवर का अवलोकन किया। सीईओ श्री गोमे द्वारा निर्माणाधीन सरोवर में मेंड़ की ऊंचाई कम होने व जलभराव हेतु जल संग्रहण स्थल का ढलान क्षेत्र मानकों के अनुरूप नहीं होने पर जलभराव एवं जल संग्रहण पर्याप्त मात्रा को दृष्टिगत रखते हुए गुणवत्तापूर्ण अमृत सरोवर बनाए जाने एवं कार्य को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिये। इस दौरान विभागीय अधिकारियों भी मौजूदगी रही।

बेतरतीब पार्किंग से जगह-जगह लगता है जाम

कटनी(नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर में बेतरतीब पार्किंग व्यवस्था ने आम लोगों के लिए चलना मुस्किल कर दिया है। शहर में पार्किंग के लिए तय स्थानों पर पार्किंग नहीं की जाती है। वाहन चालक कहीं भी पार्किंग करके शहर को यातायात व्यवस्था को बिगाड़ते रहते हैं। ऊपर से शहर की सड़कें भी संकरी हैं। ऐसे में इन पर सफर बेहद मुस्किल भरा साबित होता है। शहर में स्टेशन की ओर से मिशन चौक जाने के लिए बनाए गए प्रमुख मार्ग में ही अव्यवस्थित पार्किंग के चलते बार-बार जाम की स्थिति बनती है। इसमें आम राहगीरों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। स्टेशन से मिशन चौक ऑटो चालकों के लिए सीधे मार्ग नहीं है। लेकिन इनके लिए बनाए गए मार्ग गणेश चौक होकर जाने वाली सड़क में जगह-जगह अव्यवस्थित तरीके से खड़े दोपहिया और चार पहिया वाहनों के कारण जाम की स्थिति बनती है। इससे आम राहगीरों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। शहर में कहीं भी वाहनों को खड़ा करने के लिए पार्किंग के इंतजाम हैं। लेकिन वहां पर वाहनों को खड़ा करवाने के लिए कोई व्यवस्था नहीं है। इससे वाहन चालक चाहे जहां गाड़ी पार्क कर देते हैं। सड़कों पर बेतरतीब खड़े वाहनों के कारण शहर में जाम की स्थिति आम हो गई है। ट्रैफिक पुलिस नो पार्किंग में वाहन खड़ा करने पर चालान करती है, लेकिन वाहन चालकों को न तो चालान का खौफ है और न ही शहर में लगने वाले जाम की परवाह।

जरा सी लापरवाही ले सकती है जान

कटनी(नईदुनिया प्रतिनिधि)। कटनी शहर सहित ग्रामीण बस्ती में किसी की बालकनी, किसी के छत पर तो किसी के घर के सामने सड़क पर ही बिजली के तार झूल रहे हैं। जब तेज हवा चलती है और बारिश होती है तो ये तार आपस में सट जाते हैं और इनसे चिंगारी निकलती है। कभी-कभी तो टूटकर गिर भी जाते हैं। इससे हादसे का खौफ बना रहता है। कई जगहों पर तो बिजली के तार पेड़ों में सटे हुए हैं। ढीले और झूलते तारों का रखरखाव नहीं किया जा रहा है। जरा सी लापरवाही किसी की जान ले सकती है। कहीं मकानों के ऊपर तो कहीं बालकनी से सटे हुए बिजली के तार गुजर रहे हैं तो खभों के नीचे ही खुले तार लटक रहे हैं। लोगों ने बस्तियों में घर बनाते वक्त इसका कतई ख्याल नहीं रखा है। मकान ऊंचे हो गए हैं और बिजली के पोल नीचे। इससे भी समस्या बढ़ी है और बस्तियों में ये झूलते तार हादसों का खौफ पैदा कर रहे हैं। इतना ही नहीं बिजली चोरी करने वालों ने भी बिजली के खंभों पर कंटिया फंसा कर तारों का जाल बुन दिया है। इससे भी हादसों का अंदेशा बढ़ गई है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close