रीठी। नईदुनिया न्यूज

रीठी क्षेत्रवासियों की सबसे पुरानी मांग को विधायक के अथक प्रयासों से शासन ने मंजूरी दे दी है। रीठी में इसी सत्र से कालेज खुल जाएगा। इसके साथ ही रीठी को आइटीआई की भी सौगात मिली है। इसकी घोषणा क्षेत्रीय विधायक प्रणय पांडेय की मांग पर इसी वर्ष मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 7 अप्रैल को की थी। तिलक कालेज से मिली जानकारी के अनुसार इसी सत्र में यहां 1 जुलाई से कालेज की शुरुआत हो जाएगी। इसके लिए बिल्डिंग तलाशने निर्देश दिए गए हैं। एसडीएम के साथ बिल्डिंग की तलाश भी शुरू हो जाएगी और रीठी में 1 जुलाई से कालेज भी खुल जाएगा। बताया गया कि मध्यप्रदेश शासन उच्च शिक्षा की महत्वाकांक्षी योजनान्तर्गत शासकीय तिलक, स्नातकोत्तर महाविद्यालय कटनी की शाखा रीठी में बहुशंकायी प्रवेश सुविधा भी उपलब्ध कर दी गई है।

लंबे अर्से से उठ रही थी मांग

गौरतलब है कि कटनी जिले के आदिवासी बाहुल्य रीठी तहसील क्षेत्र में अर्से से शासकीय महाविद्यालय खोले जाने की मांग उठ रही थी। जिस पर अमल नहीं किया जा रहा था। इससे इस ग्रामीण क्षेत्र के छात्र-छात्रा उच्च शिक्षा की सुविधा से वंचित हो रहे थे। आर्थिक तौर पर कमजोर परिवारों के छात्र-छात्रा तो बीच में ही पढ़ाई बंद करने मजबूर थे। तहसील मुख्यालय में शासकीय महाविद्यालय न होने के कारण गरीब व मध्यमवर्गीय परिवारों के बच्चे उच्च शिक्षा से वंचित हो रहे थे। वहीं शिक्षा का व्यवसायीकरण हो जाने के कारण निजी महाविद्यालयों द्वारा बसूली जा रही भारी भरकम फीस के कारण छात्रों का भविष्य चौपट होता दिखाई पड़ रहा था साथ उच्च शिक्षा के मामले में पिछड़े कटनी जिले के रीठी तहसील क्षेत्र के विद्यार्थियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। इस मांग को पूरी हो जाने से उन्हें राहत मिली है। बता दें कि हायर सेकंडरी स्कूल की परीक्षा पास करने के बाद इस क्षेत्र में गुणवत्तापूर्ण उच्च शिक्षा का अभाव वर्षों से बना रहा। जिसे समाचार पत्रों द्वारा भी लगातार प्रमुखता से प्रकाशित किया जाता रहा है।

उच्च शिक्षा से वंचित था रीठी

जहां सरकार द्वारा किसी भी बच्चे को शिक्षा से वंचित नहीं रहने देने का दावा किया जा रहा था तो वहीं दूसरी ओर कटनी जिले का रीठी तहसील क्षेत्र अब तक शासकीय महाविद्यालय की सुविधा से वंचित था। जानकारी के मुताबिक कटनी जिले की लगभग सभी तहसीलों में हायर सेकंडरी स्कूल पास करने के बाद उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए महाविद्यालय खोले जा चुके थे। रीठी ही एक तहसील थी जो उच्च शिक्षा से अछूती रही। क्षेत्र के पालकों व नागरिकों ने शासकीय महाविद्यालय खोले जाने की पुरजोर मांग कई बार उठाई थी।

ग्रामीणों में हर्ष, कहा मिलेगी सुविधा

ग्रामीणों की लगातार मांग के बाद क्षेत्रीय विधायक प्रणय पांडेय के प्रयास से रीठी में इसी सत्र से शुरू होने जा रहे शासकीय कालेज और आइटीआई से लोगों में हर्ष है। नागरिकों का कहना है कि अब हमारे क्षेत्र के छात्र-छात्राओं को भी उच्च शिक्षा की सुविधा मिल सकेगी। बच्चों को उच्च शिक्षा के लिए बड़े-बड़े शहरों में न जाना पड़ेगा। रीठी में शासकीय महाविद्यालय प्रारंभ करने के लिए शुक्रवार को शासकीय महाविद्यालय कटनी की शाखा रीठी के लिए भवन निरीक्षण से संबंधित भ्रमण तिलक कालेज की टीम द्वारा रीठी में किया गया। इस दौरान प्राचार्य डॉ एसके खरे, डॉ चित्रा प्रभात, मयंक कंदेले, बिंजन श्रीवास, ऋषभ पाल, सुरेन्द्र साहू, कमलेश नामदेव आदि जन उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close