कटनी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर सहित जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में सावन के अंतिम सोमवार पर श्रद्धालुओं की भीड़ मंदिरों में उमड़ी। जिले में प्रसिद्ध रूपनाथ धाम सहित शहर के मधई मंदिर पहुंच कर भक्तों ने भगवान भूतभावन भोलेनाथ का आराधन किया। सावन मास का अंतिम सोमवार पूरी श्रद्धा और उत्साह के साथ भगवान की भक्ति की। भगवान शिव को जलाभिषेक किया और विविध अनुष्ठान किए गए। शिवालयों में लोगों की सुबह से भीड़ रही। शिवालयों में श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा।

सावन माह के अंतिम सोमवार को देवाधिदेव महादेव का श्रद्धालुओं ने विशेष पूजन किया। सुबह से देवालयों में जल अर्पण और पूजन करने लोगों की भीड़ उमड़ी। शहर के मधई मंदिर में भी भीड़ उमड़ी। शहर के प्रसिद्ध मधई मंदिर के पुजारी बिहारी महाराज ने बताया सुबह सात बजे से 12 बजे तक भगवान भोले नाथ का अभिषेक किया गया। इस दौरान पार्थिव शिवलिंग बनाए गए।

इसके बाद महाआरती का आयोजन भी किया गया। इसके बाद रंगनाथ मंदिर के भजन मंडली के प्रधान शारदा शरण शर्मा जी का भजनों को आयोजन भी किया गया। सुबह से ही मंदिरों में भगवान भोलेनाथ का रुद्राभिषेक व बेल पत्र सहस्त्र अर्चन किया गया। इसके अलावा अन्य मंदिरों में भी पूजन पाठ और अभिषेक के कार्यक्रम आयोजित किए गए।

शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में मंदिरों में पहले सावन सोमवार पर श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। इस दौरान बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे। शिवमंदिरों में सुबह से जल अर्पित करने वाले श्रद्धालुओं को तांता लगा रहा। बहोरीबंद स्थित बाबा रूपनाथ धाम में सोमवार को हजारों भक्तों ने जलाभिषेक किया। हजारों साल पुराने ऐतिहासिक मंदिर रूपनाथ धाम में दर्शन मात्र से मानव के समस्त दुख कट जाते है। सुबह से ही पहुंचने वाले श्रद्धालुओं द्वारा भगवान शिव को जल और दूध अर्पित किया गया। बरही के विजयनाथ धाम सहित अन्य स्थानों में सोमवार पूजन के लिए आवश्यक तैयारियां की गई थीं। इसके अलावा शहर के प्रमुख शक्ति पीठ मां जालपा मढ़िया में भी दर्शन-पूजन के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। मंदिरों में पार्थिव शिवलिंग निर्माण व अभिषेक का आयोजन किया गया। माई नदी शिव मंदिर, शीतला माता मंदिर, सत्यनारायण मंदिर, खिरहनी मंदिर, माधवनगर स्थित भोलेशंकर मंदिर, गौरी शंकर मंदिर, विश्राम बाबा मंदिर, कटायेघाट हनुमान मंदिर, शिव मंदिर अस्पताल रोड सहित अन्य स्थानों पर भगवान भोलेनाथ का पूजन किया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close