कटनी(नईदुनिया प्रतिनिधि)।खरीफ उपार्जन वर्ष 2020-21 में धान की खरीदी 16 नवंबर से 16 जनवरी तक की जाएगी। जिले के सभी 102 खरीदी केंद्रों पर खरीदी शुरु होने से पहले सभी आवश्यक व्यवस्थाएं, संसाधन व चाक चौबंद पूरी तैयारी दुरुस्त कर लें। ये निर्देश कलेक्टर शशिभूषण सिंह ने गुरुवार को उपार्जन की तैयारियों संबंधी समीक्षा बैठक में दिए। इस दौरान सहायक आपूर्ति अधिकारी ने जानकारी दी कि पिछले वर्ष के मुकाबले 33 फीसद किसान बढ़ गए हैं।

कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि धान उपार्जन के संभावित लक्ष्‌य 3 लाख 25 हजार एमटी धान की खरीदी के अनुरूप खरीदी, परिवहन व भंडारण की व्यवस्था समय रहते पूर्ण करें। खरीदी केंद्रों के मॉइश्चर मीटर, तौल कांटे व अन्य उपकरणों का केलिब्रेशन प्रमाणीकरण के साथ ही पंखा, पेयजल, बैनर्स, बारदाने इत्यादि की समुचित उपलब्धता रखें। सभी खरीदी केंद्रों में हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर का भौतिक सत्यापन कर ट्रायल चैक कर लेवें।

13 फीसद बढ़ा है रकबाः सहायक आपूर्ति अधिकारी केएस भदौरिया ने बताया कि गतवर्ष के धान के रकबे में 13 प्रतिशत की वृद्धि होने से अनुमानित लक्ष्‌य 3 लाख 25 हजार एमटी धान की खरीदी का लक्ष्‌य निर्धारित है। इस बार धान उपार्जन में 47 हजार 937 किसानों ने पंजीयन कराया है, जो गतवर्ष से 33 फीसद अधिक है। उपार्जित धान के लिए 16 हजार 250 गठान बारदाने की आवश्यकता होगी। वर्तमान में 10 हजार 444 गठान वारदाने की उपलब्धता है। शेष शॉर्टफॉल पीडीएस और मिलर्स द्वारा उपलब्ध कराए गए वारदानों से पूर्ण कर ली जाएगी। चार हजार नई वारदाने गठानों के लिए प्रस्ताव भी भेजा जा चुका है। भंडारण के लिए 2 लाख 10 हजार एमटी की क्षमता उपलब्ध है। जनपद पंचायतों द्वारा 55 हजार एमटी क्षमता के लिए गोदाम और ओपन कैप बनाए जा रहे हैं जो एक माह में पूर्ण हो जाएंगे। शेष 60 हजार मीट्रिक टन की क्षमता धान और गेहूं के उठाव से रिक्त होगी।

छह सेक्टर्स में चार के लिए मिले परिवहन टेंडरः जानकारी दी गई कि परिवहन के लिए 6 सेक्टर्स में से 4 सेक्टर के लिए परिवहन टैंडर प्राप्त हुए हैं। प्रत्येक जनपद में इस बार 2 स्वसहायता समूहों को खरीदी केंद्र से संलग्न किया गया है। समिति स्तर पर स्थापित उपार्जन केंद्रों के लिए उपार्जन केंद्र र्प्रभारी ही गुणवत्ता परीक्षक का कार्य करेंगे। भंडारण एजेंसी में 2 उपार्जन परीक्षक उपलब्ध है। गोदाम स्तरीय उपार्जन केंद्रों में नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा गुणवत्ता परीक्षक नियुक्त किए जाएंगे। इस मौके पर सहायक आपूर्ति अधिकारी केएस भदौरिया, सहायक आयुक्त सहकारिता डॉ. अरुण मसराम, जिला प्रबंधक नान पीयूष माली, मार्कफेड शिक्षा सिंह वर्मा सहित वेयर हॉउसिंग कॉर्पोरेशन, नापतौल विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस