कटनी, नईदुनिया प्रतिनिधि। नौ दिवसीय शारदीय नवरात्र की शुरूआत सोमवार से हो रही है, जिसके लिए देवी मंदिरों में साज-सज्जा के साथ रंग रोगन कराया गया है। सुबह मंदिरों में जल चढ़ाने के लिए श्रद्घालु पहुंचेंगे। शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों के प्रमुख मंदिरों में सुबह से साफ सफाई का क्रम चलता रहा। वहीं मातारानी के विशेष श्रंगार की भी कई मंदिरों में तैयारी पूर्ण कर ली गई है। वहीं जवारे भी बोए जाएंगे। नवरात्र पर्व को लेकर प्रशासन और पुलिस ने भी तैयारियां पूर्ण की है।

नवरात्र पर्व पर शहर के विभिन्न देवी मंदिरों जालपा मंदिर, झंडा बाजार देवी माता मंदिर, घंटाघर काली माता मंदिर, गाटर घाट रोड स्थित दुर्गा माता मंदिर, मरही माता मंदिर, शहीद द्वार के पास दुर्गा माता मंदिर, शीतला मंदिर पुराना जंगल दफ्तर के पास, बरगवां स्थित भूमि प्रकट शारदा मंदिर, विश्राम बाबा काली मंदिर, पाठक वार्ड स्थित बनखंडी शारदा मंदिर, लखेरा स्थित खेरमाई मंदिर, नालंदा स्कूल के पास दुर्गा माता मंदिर सहित नगर के विभिन्ना मंदिरों में नवरात्रि पर्व पर विभिन्न कार्यक्रम होंगे।

बहोरीबंद क्षेत्र में मरही माता मंदिर बहोरीबंद में देवी जी की नौ रूपों की प्रतिमा स्थापित है। अष्टमी के दिन सैकड़ों की तादाद में श्रद्घालु पहुंचते हैं। वहीं तिगमा में शारदा माता और कंकाली माता का मंदिर स्थित है। जहां श्रद्घालुओं का तांता लगेगा। बहोरीबंद से 15 किलोमीटर की दूरी सिहोरा रोड पर खडरा गांव स्थित माता मंदिर है। यहां पर दोनों नवरात्र आयोजन होते हैं। मनोकमना की पूर्ति के लिए दूर-दूर से श्रद्घालु पहुंचते हैं।

विजयराघवगढ क्षेत्र में मैहर वाली मां शारदा की बडी बहन विजयराघवगढ़ में विराजी हैं। इसे विजयराघवगढ शारदा मंदिर के नाम जाना जाता है। दोनों नवरात्र शारदेय नवरात्र और चैत्र नवरात्र में नौ दिनों तक मेला लगता है। दोनों सीजन में जवारे बोए जाते है। हजारों में तादात श्रद्घालु यहां आते है। इसके अलावा विजयराघवगढ सहित आसपास ग्रामीण क्षेत्र की कुल देवी विख्यात बंजारी माई मंदिर है। इन्हें कुल देवी माना जाता है। यहां हजारों की तादात में लोग भंडारा कराने नवरात्र में आते हैं।

विश्राम बाबा स्थित काली माता मंदिर में व्यवस्थाएं देखने पहुंचे निगमाध्यक्ष: नवरात्रि पर्व पर निगम प्रशासन द्वारा की जाने वाली आवश्यक व्यवस्थाओं का जायजा निगम अध्यक्ष मनीष पाठक ने रविवार दोपहर विश्राम बाबा काली माता मंदिर पहुंचकर लिया गया। इस दौरान निगम अध्यक्ष ने समिति के पदाधिकारियों से व्यवस्थाओं के संबंध में चर्चा की। इस वर्ष भी निगम प्रशासन की आवश्यक व्यवस्थाओं का जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान मौके पर सफाई व्यवस्था में कमी पाए जाने पर क्षेत्रीय स्वच्छता निरीक्षक को मंदिर परिसर एवं पहुंच मार्गों की पर्याप्त सफाई कराकर कीटनाशक दवा का छिड़काव कराने सहित श्रद्धालुओं की सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए शीघ्र ही समुचित प्रकाश व्यवस्था कराने के लिए विद्युत शाखा को निर्देश प्रदान किए गए।

उमरियापान बड़ी माई मंदिर में लगेगा तांता: देवी शक्ति उपासना के नौ दिवसीय नवरात्र पर्व पर सोमवार से उमरियापान के प्राचीन बड़ी माई मंदिर में सुबह चार बजे से ही श्रद्धालुओं का तांता लगेगा। जिसको लेकर मंदिर द्वारा आवश्यक व्यवस्थाएं की गई है। पर्व पर उमरियापान स्थित खेरमाई मंदिर, सिलौडी क्षेत्र में पाली स्थित विरासन देवी मंदिर, घुघरा स्थित चित्तावर माता मंदिर में भी पूरे नौ दिनों तक श्रृद्धालुओं का तांता लगेगा। इस अवसर पर उमरियापान में बड़ीमाई दुर्गोत्सव समिति, झंडा चौक, न्यू बस स्टैंड, कटरा बाजार, नई बस्ती, आजाद चौक सहित पंडालों में मां दुर्गा की प्रतिमाएं विराजमान की जाएंगी, जिसकी आयोजन समितियों द्वारा तैयारियां कर ली गई हैं।

Posted By: tarunendra chauhan

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close