कटनी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले के किसानों को सुगमता से बेहतर उत्पादन के लिए वैज्ञानिकों का परामर्श मिले। कृषि वैज्ञानिकों के रिसर्च, किसानों के खेत में दिखे। जिले के किसान विज्ञान के साथ मित्रता कर आगे बढ़े। इस विजन को सार्थक करने के उद्देश्य से जिले को बड़ी सौगात मंगलवार को भाजपा प्रदेशाध्यक्ष व सांसद वीडी शर्मा ने दी।

उन्होंने पिपरौंध पहुंचकर नवनिर्मित कृषि विज्ञान केंद्र के प्रशासनिक भवन का लोकार्पण किया। कार्यक्रम की शुरुआत कन्या पूजन से हुई। इस अवसर पर प्रगतिशील कृषकों का सम्मान भी सांसद श्री शर्मा ने किया। सांसद श्री शर्मा ने कहा कि हमारा देश कृषि प्रधान देश है। हमारे प्रधानमंत्री और हमारी सरकार का उद्देश्य किसानों की आय बढ़ाना है। किसान अपनी फसल का अधिक से अधिक दाम प्राप्त कर सके। इसके लिए कृषि कानूनों के माध्यम से किसानों को आजादी दी गई है। वे किसी भी मंडी में जाकर अपना उत्पाद बेच सकते हैं और बेहतर दाम प्राप्त कर सकते हैं। जिले के किसानों को कृषि विज्ञान केंद्र से होने वाले लाभ की जानकारी भी सांसद श्री शर्मा ने दी। उन्होंने कहा कि यदि मध्यप्रदेश आज कृषि के मामले में देश में सिरमौर है। कई कृषि कर्मण अवॉर्ड जीते हैं, तो उसका श्रेय सिर्फ कृषि वैज्ञानिकों और किसानों को जाता है। एक जिला एक उत्पाद के तहत जिले में टमाटर का चयन किया गया है। हमारे कृषि वैज्ञानिक यह सुनिश्चित करें कि हम इस दिशा में काम करें और किसानों को तैयार करें कि टमाटर के उत्पादन में भी कटनी नंबर वन बने।

फार्मस प्रॉड्येसर ऑर्गनाईजेशन एफपीओ का गठन करने का आह्वान भी सांसद वीडी शर्मा ने कार्यक्रम में किया। उन्होंने कहा कि इससे हमारे किसान भाई अपना 3 सौ किसानों का एक समूह बनाकर स्वयं अपनी दिशा तय करके उत्पादन कर सकते हैं और मार्केट में अपना ब्रांड स्थापित कर बेहतर दाम प्राप्त कर सकते हैं। कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों से भी उन्होंने अपील करते हुए कहा कि जिले की अनुकूलता को समझते हुए बेहतर कृषि उत्पादन की दिशा में उपयोग में आने वाली नवीन वैज्ञानिक तकनीकों की जानकारी कृषकों को उपलब्ध कराए। ताकि हमारा कटनी कृषि उत्पादन के क्षेत्र में भी नंबर वन बन सके। लोर्कापण कार्यक्रम को जवाहर लाल नेहरु कृषि विवि जबलपुर के कुलपति प्रोफेसर प्रदीप कुमार बिसेन ने भी संबोधित किया। उन्होने कहा कि हमारे देश को सारा वैभव किसानों ने दिया है। किसानों की मेहनत का हम कितना भी सम्मान करें, उतना कम है। बदलते परिदृश्य में बेहतर कृषि उत्पादन की दिशा में आगे बढ़ने के लिये विज्ञान के उपयोग पर जोर भी प्रो. बिसेन ने दिया। उन्होंने कहा कि हम कम लागत में, कम जमीन में कैसे बेहतर उत्पादन प्राप्त करें, इसके लिए हमें आज विज्ञान से दोस्ती करनी होगी। तभी हमारा आय दुगुनी हो पाएगी।

कृषि विज्ञान केंद्र के प्रशासनिक भवन के लोर्कापण कार्यक्रम के अवसर पर नवीन उन्नाात कृषि तकनीकों पर आधारित प्रदर्शनी का आयोजन भी किया गया। इसमें उपस्थित किसानों ने जाकर कृषि तकनीकों के विषय में जानकारी प्राप्त की। कृषि संगोष्ठी भी इस अवसर पर आयोजित की गई। इसमें कृषि वैज्ञानिकों के द्वारा जिले के किसानों का मार्गदर्शन किया गया। इस अवसर पर जिला पंचायत की प्रधान ममता पटैल, भाजपा जिला अध्यक्ष रामरतन पायल, पूर्व अध्यक्ष पीतांबर टोपनानी, जिला पंचायत उपाध्यक्ष अशोक विश्वकर्मा, जनपद पंचायत कटनी अध्यक्ष कन्हैया तिवारी, पूर्व मंत्री एवं पूर्व विधायक मोती कश्यप, पूर्व महापौर शशांक श्रीवास्तव, सांसद प्रतिनिधि पद्मेश गौतम, कलेक्टर प्रियंक मिश्रा, पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण व उन्नाातशील कृषक भी उपस्थित रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags